सियासी रविवार को आमने-सामने होंगे सपा-बसपा

सियासी रविवार को आमने-सामने होंगे सपा-बसपाakhilesh yadav and mayawati

लखनऊ। शहर में सियासी रविवार को समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी आमने-सामने होंगे। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अपनी युवा टीम के साथ जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट में युवा समागम को संबोधित करेंगे। वहीं दूसरी ओर बसपा सुप्रीमो मायावती रमाबाई रैली स्थल में करीब तीन लाख कार्यकर्ताओं और समर्थकों को संबोधित करेंगी। मायावती की रैली को लेकर शनिवार को ही कार्यकर्ताओं का लखनऊ में जमावड़ा लगना शुरू हो गया है।

नौ ट्रेनों की विशेष बुकिंग करवाई गई

बसपा की ओर से रेलवे से नौ विशेष ट्रेनों की बुकिंग इस रैली के लिए करवाई गई है। जिन ट्रेनों में केवल बसपा के कार्यकर्ता देश के विभिन्न हिस्सों से आएं और जाएंगे। अखिलेश के युवा समागम में अखिलेश की वह टीम नजर आएगी जो हाल ही में समाजवादी पार्टी से किनारे की जा चुकी है। जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट के सभागार में होने वाले इस आयोजन के दौरान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव चाचा शिवपाल यादव को भी अपनी ताकत का अहसास कराते हुए नजर आएंगे।

मायावती के निशाने पर होगी भाजपा

यहां से कुछ किलोमीटर की दूरी पर मायावती सपा और भाजपा के खिलाफ मोर्चा खोलेंगी। यहां सपा से ज्यादा माया के निशाने पर एक बार फिर से भारतीय जनता पार्टी के होने का अनुमान लगाया जा रहा है। दरअसल मायावती के लिए उनके वोटबैंक पर सपा से ज्यादा बड़ा खतरा भाजपा बनती जा रही है। ऐसे में रविवार राजधानी के लिए खास सियासी लड़ाई का दिन होगा।

Share it
Top