अमेरिका ने की भारत-पाक से तनाव कम करने की अपील 

अमेरिका ने की भारत-पाक से तनाव कम करने की अपील pakistan and india flag

वाशिंगटन (भाषा)। भारत की ओर से बुधवार रात सीमा पार आतंकी ठिकानों को तबाह करने के बाद अमेरिका ने शुक्रवार को भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव कम करने की अपील की है। बता दें कि अमेरिकी सुरक्षा सलाहकार ने सीमापार हमले के बाद भारतीय समकक्ष से बातचीत की थी।

पाकिस्तान आतंकी संगठनों से निपटे

व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जोश अर्नेस्ट ने कहा, ‘‘मैं आपको यह बता सकता हूं कि हमने क्षेत्र से मिली कुछ रिपोर्ट देखी हैं। इन रिपोर्टों में यह रिपोर्ट भी शामिल है कि भारत और पाकिस्तान की सेनाएं एक-दूसरे के संपर्क में हैं और हम तनाव कम करने के लिए भारत-पाकिस्तान के बीच जारी वार्ता को प्रोत्साहित करते हैं।'' अर्नेस्ट ने कहा कि अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सुसान राइस ने गुरुवार को अपने भारतीय समकक्ष अजित डोभाल से बात की और कहा कि अमेरिका चाहता है कि पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र द्वारा आतंकी घोषित किए गए लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद समेत आतंकवादी संगठनों से निपटे और उनकी वैधता खत्म करे।

पाकिस्तान के साथ संपर्क में है अमेरिका

उन्होंने कहा, ‘‘राजदूत सुसान ने यह स्पष्ट किया कि अमेरिका क्षेत्र में सीमा पार से आतंकवाद के खतरे को लेकर चिंतित है। अमेरिका पूरी उम्मीद करता है कि पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र द्वारा सूचीबद्ध आतंकवादियों और आतंकवादी संगठनों से निपटने एवं उन्हें अवैध घोषित करने के लिए प्रभावशाली कार्रवाई करेगा।'' प्रेस सचिव ने कहा कि साथ ही, अमेरिका पाकिस्तान के साथ निकट संपर्क बनाए हुए है और सुरक्षा समेत विभिन्न मुद्दों पर उन्होंने जो महत्वपूर्ण साझेदारी की है, उसकी महत्ता को समझता है। इस बीच विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने तनाव कम करने की अपील की.

हम दोनों ओर से करते हैं शांति और संयम की अपील

अधिकारी ने कहा, ‘‘हम दोनों ओर शांति और संयम की अपील करते हैं।'' उन्होंने कहा, ‘‘हम समझते हैं कि भारत एवं पाकिस्तान की सेनाएं संपर्क में रहीं हैं और हमारा मानना है कि तनाव कम करने के लिए जारी संवाद आवश्यक है।'' अमेरिका ने उरी में हालिया हमले समेत सीमा पार की आतंकवादी गतिविधियों से क्षेत्र को पैदा हो रहे खतरे पर अपनी चिंता बार बार व्यक्त की है। अधिकारी ने कहा, ‘‘हम लश्कर ए तैयबा, हक्कानी नेटवर्क एवं जैश ए मोहम्मद जैसे आतंकवादी समूहों से निपटने एवं उनकी वैधता समाप्त करने के लिए कदम उठाने की अपील करते हैं.''

भारत ने जैश-ए-मोहम्मद को ठहराया दोषी

भारत ने उरी हमले के लिए पाकिस्तान स्थित आंतकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद को दोषी ठहराया है। उरी आतंकी हमले के बाद बढे तनाव की पृष्ठभूमि में भारत ने ‘सीमा पार' से बढ़ते आतंकी हमलों का हवाला देते हुये दक्षेस शिखर सम्मेलन में शामिल नहीं होने की भी मंगलवार को घोषणा की थी। भारत चाहता है कि संयुक्त राष्ट्र जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाये।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top