अमेरिका में उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों के बीच तीखी बहस  

अमेरिका में उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों के बीच तीखी बहस  अमेरिका के उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार डेमोक्रेटिक पार्टी से सीनेटर टिम केन और रिपब्लिकन गवर्नर माइक पेंस के बीच हुई तीखी बहस।

फार्मविले (वर्जीनिया) (भाषा)। डेमोक्रेटिक पार्टी से सीनेटर टिम केन और रिपब्लिकन गवर्नर माइक पेंस के बीच यहां उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों की एकमात्र बहस के दौरान अपनी-अपनी पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों की नीतियों को लेकर तीखा वाद-विवाद हुआ और दोनों ने एकदूसरे पर जमकर आरोप लगाए।

जब दोनों को नियंत्रित करना मुश्किल हो गया

मध्यस्थ की भूमिका निभा रहे ‘सीबीएस न्यूज' के एलीने क्विजानो को कल रात बहस की शुरुआत में ही हस्तक्षेप करना पड़ा। उपराष्ट्रपति पद के दोनों उम्मीदवारों ने बार-बार एकदूसरे की बात को बाधित किया। कभी-कभी तो क्विजानो के लिए केन (58 वर्ष) और पेंस (57 वर्ष) को नियंत्रित करना मुश्किल हो गया।

सीरिया के हालात की जिम्मदारे हैं हिलेरी क्लिंटन : पेंस

पेंस ने कहा, ‘‘विदेश मंत्री के तौर पर हिलेरी क्लिंटन के कार्यकाल में, जब वह ओबामा प्रशासन की विदेश नीति की शिल्पकार थीं, हमने पूरी दुनिया, खासकर पश्चिम एशिया को नियंत्रण से बाहर जाते देखा।'' उन्होंने कहा, ‘‘मेरा मतलब है कि हम आज सीरिया में हर घंटे जो हालात देख रहे हैं, वे उस असफल और कमजोर विदेश नीति का परिणाम हैं जो इस प्रशासन में हिलेरी क्लिंटन के नेतृत्व में बनी थी।'' पेंस ने जैसे ही कहा, ‘‘रूस का नया हौसला-आक्रामकता, भले ही वह यूक्रेन की बात हो या उनके कड़े रख की'' तो केन ने उन्हें बीच में रोकते हुए कहा, ‘‘आप लोगों को रूस से प्यार है, आप दोनों ने कहा है कि व्लादिमीर पुतिन राष्ट्रपति से बेहतर नेता हैं।''

हिलेरी ने अपना पूरा जीवन जनसेवा को समर्पित किया : केन

केन ने कहा कि हिलेरी ने अपना पूरा जीवन जनसेवा और देश के लोगों की भलाई के लिए समर्पित कर दिया जबकि उनके रिपब्लिकन प्रतिद्वंद्वी डोनाल्ड ट्रंप ने हमेशा खुद को पहले रखा। उन्होंने कहा, ‘‘ट्रंप ने राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के तौर पर अपनी मुहिम एक ऐसे भाषण से आरंभ की, जिसमें उन्होंने मेक्सिको के लोगों को बलात्कारी एवं अपराधी कहा और उन्होंने बहुत ही अपमानजनक एवं निंदनीय झूठ बोला कि राष्ट्रपति ओबामा का जन्म अमेरिका में नहीं हुआ।''

केन ने कहा, ‘‘यह सलाह देना बहुत दु:खदाई है कि हम आज के दौर में पीछे की ओर जाकर उन दिनों के बारे में सोचें जब अफ्रीकी-अमेरिकी अमेरिका का नागरिक नहीं हो सकता था और मैं इस बात की कल्पना नहीं कर सकता कि गवर्नर पेंस डोनाल्ड ट्रंप की ‘‘पहले मैं'' की स्वार्थी एवं दूसरों का अपमान करने वाली शैली का बचाव किस प्रकार कर सकते हैं।''

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top