ब्याज दर में कटौती का फायदा ग्राहकों तक पहुंचाएं बैंक: आरबीआई

ब्याज दर में कटौती का फायदा ग्राहकों तक पहुंचाएं बैंक: आरबीआईमौद्रिक नीति समिति की बैठक में भारतीय रिजर्व बैंक के गर्वनर उर्जित पटेल।

मुंबई (भाषा)। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने मंगलवार को बैंकों को प्रेरित किया कि वे लघु बचत योजनाओं की ब्याज दरों में कटौती के संकेत को समझें और ब्याज दरों में कमी का फायदा अपने ग्राहकों तक पहुंचाएं।

केंद्रीय बैंक ने इस वित्त वर्ष की चौथी द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में आज अल्पकालिक उधारी दर (रेपो) दर को 0.25 प्रतिशत घटाकर 6.25 प्रतिशत कर दिया। रिजर्व बैंक का कहना है कि उसके परिचालन से नकदी उपलब्धता की स्थिति बेहतर हुई है और इससे उसकी नीतिगत कार्रवाइयों का सुगम हस्तांतरण विभिन्न बाजार भागीदारों के जरिए होना चाहिए।

गर्वनर उर्जित पटेल की अध्यक्षता वाली मौद्रिक नीति समिति ने प्रस्ताव में कहा है कि बैंकों को लघु बचत दरों में हाल ही की कटौती से भी संकेत लेना चाहिए। केंद्रीय बैंक ने जनवरी 2015 से रेपो दर में कुल मिला कर 1.75 प्रतिशत की कटौती की है।

Share it
Top