सपा के टिकट पर चुनाव लड़ेंगे मुख्तार अंसारी 

सपा के टिकट पर चुनाव लड़ेंगे मुख्तार अंसारी mukhtar ansari 

लखनऊ। मऊ के डॉन कहे जाने वाले मुख्तार अंसारी समाजवादी पार्टी के टिकट पर विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे। मुख्तार अंसारी की पार्टी के कौमी एकता दल के सपा में विलय के बाद इस बात का ऐलान मुख्तार के भाई और कौमी एकता दल अध्यक्ष अफजाल अंसारी ने कहीं। समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव से मिलने के बाद मीडिया से बात करते हुए अफजाल अंसारी ने यह बातें कहीं।

सपा को इन सीटों पर मिल सकता है फायदा

पूर्वांचल की गाजीपुर, मऊ, बलिया, जोनपुर, बनारस और चंदोली जिले की मुसलिम बाहुल्य कई सीटों पर अंसारी बंधुओं का असर है। ऐेसे में सपा उनके आने से आगामी विधानसभा चुनाव में सपा को इन सीटों पर फायदा मिलने की उम्मीद है। इसी को देखते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के विरोध के बावजूद भी कौमी एकता दल का सपा में विलय कराया गया है।

मुख्यमंत्री ने जताया था विरोध

अपनी साफ-सुथरी छवि को लेकर सर्तक रहने वाले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कुछ महीना पहले सपा में कौमी एकता दल के विलय का विरोध करते हुए मोर्चा खोल दिया था। इसके बाद सपा और कौमी एकता दल का मामला कुछ दिनों के लिए खटाई में पड़ गया था। लेकिन समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष से अखिलेश यादव की छुट्टी और इस पद पर शिवपाल यादव की ताजपोशी के बाद सपा में कौमी एकता दल के विलय का रास्ता साफ हो गया।

एक धड़ा कर रहा विरोध

जल में बंद मुख्तार अंसारी के आपराधिक रिकार्ड को देखते हुए सपा में साफ-सुथरी राजनीति की वकालत करने का एक धड़ा अंसारी बंधुओं के सपा में आने का विरोध कर रहा था। अखिलेश समर्थकों को भी इस बात की चिंता है कि राज्य में मुख्यमंत्री की जो अच्छी छवि है, उस पर मुख्तार अंसारी के पार्टी में आने से असर पड़ेगा। जिसका खामियाजा चुनाव में सपा को भुगतना पड़ सकता है। लेकिन माई यानि मुसलि यादव समीकरण को साधने में लगे सपा ने दूसरे नेताओं को इसमें फायदा दिख रहा है।

Share it
Top