जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा : भारत  

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   6 Oct 2016 12:17 PM GMT

जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा : भारत  संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन।

संयुक्त राष्ट्र (भाषा)। भारत ने पाकिस्तान के आरोपों का मजबूती से खंडन करते हुए कहा है कि पाकिस्तान के ‘‘पुराने रवैये'' का समय अब पूरा हो चुका है और उसे कश्मीर के लिए अपनी ‘‘निरर्थक खोज'' छोड़ देनी चाहिए। पाकिस्तान ने भारत पर आरोप लगाया था कि मौजूदा स्थिति के लिए भारत जिम्मेदार है।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने ‘संगठन के कार्य पर महासचिव की रिपोर्ट' विषय पर महासभा में चर्चा के दौरान पाकिस्तान की दूत मलीहा लोधी की उन टिप्पणियों का दृढ़ता से खंडन किया, जिनमें मलीहा ने कहा था कि भारत ने अपनी हालिया ‘‘घोषणाओं और कार्रवाइयों'' से क्षेत्र में ऐसी स्थितियां पैदा की हैं जिसके कारण शांति एवं सुरक्षा के लिए खतरा पैदा हुआ।

पाक के पुराने रवैये का समय पूरा हुआ : भारत

अकबरुद्दीन ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के दावे का कोई समर्थन नहीं कर रहा है और उसे कश्मीर के लिए अपनी खोज छोड़ देनी चाहिए, जो भारत का अभिन्न हिस्सा है। अकबरुद्दीन ने कहा, ‘‘पाकिस्तान के प्रति हमारी प्रतिक्रिया अटल है, वह अपनी व्यर्थ खोज छोड़ दे। जम्मू कश्मीर राज्य भारत का एक अभिन्न हिस्सा है और यह हमेशा रहेगा।'' अकबरुद्दीन ने कहा कि पाकिस्तान के अंतरराष्ट्रीय मंचों के ‘‘गलत'' इस्तेमाल से हकीकत नहीं बदलेगी। उन्होंने कहा, ‘‘पाकिस्तान के पुराने रवैये का समय अब पूरा हो चुका है।''

शरीफ के ‘‘आधारहीन दावों'' को एक भी समर्थन नहीं मिला

अकबरुद्दीन ने पाकिस्तान को आतंकवाद का वैश्विक केंद्र बताते हुए कहा कि कश्मीर पर उसके दावे और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के महासभा में अपने संबोधन के दौरान कश्मीर का मुद्दा उठाए जाने को अंतरराष्ट्रीय बिरादरी के बीच कोई समर्थन नहीं मिला। भारतीय दूत ने इस बात पर जोर दिया कि हाल में सम्पन्न संयुक्त राष्ट्र आम चर्चा के दौरान शरीफ के ‘‘आधारहीन दावों'' को ‘‘एक भी समर्थन नहीं मिला।''

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top