गांधी पर पुस्तकें पढ़ने के दीवाने हैं अमेरिकी

गांधी पर पुस्तकें पढ़ने के दीवाने हैं अमेरिकीमुरादाबाद में गांधी जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम में बच्चे।

मुंबई (भाषा)। महात्मा गांधी पर किताबें और लेख पढ़ने वालों की सूची में अमेरिका में इंटरनेट उपभोक्ता दूसरे पायदान पर हैं, हालांकि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी अपने जीवन में कभी अमेरिका नहीं गए। गांधी पर एक प्रमुख वेबसाइट की विश्लेषण रिपोर्ट में यह तथ्य सामने आया है।

गूगल एनलिटिक्स द्वारा वेबसाइट एमकेगांधी डॉट ऑर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक, महात्मा गांधी पर ज्यादातर आनलाइन पाठक या अनुसंधानकर्ता भारत के हैं, जबकि पेज देखने, डाउनलोडिंग, ई-पुस्तक पढने और डाउनलोडिंग के मामले में अमेरिका दूसरे पायदान पर है. इस वेबसाइट के डिजाइनर राजेश शिंदे नइ इन तथ्यों के संदर्भ में यह बात कही।

गूगल एनलिटिक्स वेबसाइट यातायात पर नजर रखने और उनकी रिपोर्ट देने वाली एक ‘फ्रीमियम' वेब विश्लेषण सेवा है। संयुक्त राष्ट्र ने महात्मा गांधी की जयंती को अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस घोषित किया है और यह दुनियाभर में मनाया जा रहा है।

वर्ष 1998 में शुरू की गई एमकेगांधी डॉट ऑर्ग, गांधीवादी संस्थानों द्वारा पेश एक व्यापक वेबसाइट है और इसका संचालन यहां स्थित न्यास बांबे सर्वोदय मंडल द्वारा किया जाता है जो संगोष्ठियों, कार्यशालाओं, बैठकों, युवा शिविरों आदि के जरिए महात्मा गांधी द्वारा किए गए कार्यों और गांधी पर किए गए कार्यों को प्रोत्साहित करने का काम करता है।


Share it
Top