आत्महत्या करने से लोगों को बचा रहा यूपी 100

आत्महत्या करने से लोगों को बचा रहा यूपी 100हाल में यूपी 100 सेवा का मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने किया था लोकार्पण।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के लोगों की सुरक्षा और उनकी आपात स्थिति में मदद के लिए शुरू की गई यूपी 100 सेवा लोगों की सहायता करने के साथ ही लोगों का जान भी बचा रही है। यूपी 100 की टीम ने अपनी शुरूआत के एक हफ्ते के अंदर ही प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में पारिवारिक और मामूली विवाद में आत्महत्या की कोशिश करने वाले दर्जनों लोगों की जान बचाई है।

शहर से लेकर गाँव तक मिल रहा अच्छा रिस्पांस

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री वीरबहादुर सिंह के गांव हरनही में सोमवार को सुरेश सिंह का अपने बेटे से झगड़ा हो गया। इसके बाद गुस्से में आकर उसने अपने परिवार वालों को एक कमरे में बंद कर लिया। उसके बाद अपने शरीर पर मिट्टी का तेल उड़ेल कर आत्महत्या की कोशिश करने लगा। उसके बेटे को कुछ नहीं सूझा तो उसने यूपी 100 पर मदद के लिए कॉल की। कुछ ही मिनटों में पुलिस उसके घर पहुंच गई ओर उसके पिता की जान बचा ली। बता दें कि 19 नवंबर शनिवार को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गोमती नगर के विस्तार खंड में इसका लोकार्पण किया था। इसी दिन से 11 जिलों में यूपी 100 ने काम भी करना शुरू कर दिया था। जिसके बाद से यूपी 100 को लेकर शहर से लेकर देहात में अच्छा रिस्पांस मिल रहा है।

सिर्फ एक घटना ही नहीं...

  • बरेली के चौकी चौराहा कैलीफोर्निया कंपाउंड में आइजीक दीन नामक के एक शख्स ने पारिवारिक विवाद में पंखे से लटकर जान देने का प्रयास किया। परिवार के लोग उसे ऐसा करने से रोक रहे थे, लेकिन वह किसी की बात नहीं सुन रहा था। ऐसे में उसके पड़ोस के रहने वाले ईशान कुरैशी ने इस बात की सूचना यूपी 100 पर कॉल करके दी। इसके बाद सिविल लाइन में तैनात यूपी 100 की गाड़ी पांच मिनट में उसके घर पहंची। उसके परिवार वालों से बात करने पर पता चला कि वह शराबी है और घरवालों को परेशान करता है। इसके बाद पुलिस उसको मिशन अस्पताल में लेकर भर्ती भी किया।
  • वाराणसी के तरना क्षेत्र में किराये के मकान में रहने वाली सुमन नामक महिला पारिवारिक विवाद में 23 नवंबर को फांसी लगाकर आत्महत्या करने की कोशिश की। इस बात की जानकारी मिलते ही उसके पड़ोस में रहने वाली एक महिला ने यूपी 100 पर कॉल की। यूपी 100 ने कंट्रोल रूप से संपर्क करके तत्काल पुलिस भेजी। पुलिस मौके पर पहुंचकर महिला की जान बचाते हुए उसे अस्पताल में भर्ती कराया।
  • मुरादाबाद जिले के इमरातपुर उधो नामक गांव में एक व्यक्ति अपने पड़ोस की शादीशुदा महिला का लेकर भाग गया। इसकी जानकारी मिलने पर गांव वाले उसको पकड़ा और उस घर लाए। व्यक्ति पहले से शादीशुदा ओर सात बच्चों का पिता था। इस बात को लेकर गांव वालों ने जब उसको शर्मिंदा किया तो वह फांसी लगाकार रात में आत्महत्या करने की कोशिश की। उसके पत्नी ने तत्परता दिखाते हुए गांव वालों की मदद से यूपी 100 पर कॉल किया। जिसके बाद यूपी 100 की टीम ने मौके पर पहुंचकर व्यक्ति की जान बचाई।
  • कानपुर में अलीगंज मोहल्ले में घरेलू झगड़े में एक बच्ची को उसकी बुआ ने डांट लगा दी। जिससे गुस्साकर बच्ची ने घर में रखा जहरीला पदार्थ पी लिया। इसके बार घर में कोहराम मच गया। पड़ोस के रहने वाले एक युवक ने तत्परता दिखाते हुए यूपी 100 पर सहायता के लिए कॉल किया। पुलिस मौके पर पहुंचकर मामले को शांत कराते हुए बच्ची को अस्पताल पहुंचाया।

क्या कहते हैं अधिकारी

यूपी 100 सेवा अपने थीम के अनुसार शहर हो देहात, दिन हो या रात, सबकी मदद कर रही है। गांव से लेकर शहर तक लोग इसका लाभ उठा रहे हैं। बुजुर्ग, महिलाएं और लड़किया यूपी 100 एप को अपने स्मार्टफोन में डाउनलोड करें। जिससे किसी भी आपातकालीन स्थिति में बस एक मिस कॉल करने पर उनकी मदद के लिए यूपी 100 पहुंच जाएगी। गांव के लोग भी इस सेवा का अधिक से अधिक उपयेाग करें।
जावीद अहमद, डीजीपी उत्तर प्रदेश पुलिस

Share it
Top