आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को अब 4 हजार मिलेगा मानदेय, प्रदर्शन समाप्त

आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को अब 4 हजार मिलेगा मानदेय, प्रदर्शन समाप्तaaganbadi workers

लखनऊ। आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के राजधानी में मंगलवार को हल्ला बोल के बाद आज कार्यकत्रियों का मानदेय बढ़ाने का आश्वासन राज्य सरकार की ओर से दिया गया है। जानकारी के अनुसार, आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का मासिक मानदेय को 800 रुपये बढ़ा दिया गया है। ऐसे में उन्हें मासिक मानदेय अब 3200 से बढ़कर 4000 रुपये मिलेगा। आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का मासिक मानदेय बढ़ने के बाद कार्यकत्रियों ने अपना प्रदर्शन समाप्त कर दिया है।

आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों पर किया था लाठीचार्ज

बता दें कि आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने मंगलवार को राजधानी में अपनी मांगों को लेकर हल्ला बोल किया था। हजारों की संख्या में राजधानी पहुंची आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने जोरदार प्रदर्शन किया था और हजरतगंज व अशोक मार्ग पर सड़क जाम कर दिया था। प्रदर्शन बढ़ने पर पुलिस ने उन पर लाठीचार्ज किया, जिसमें कई कार्यकत्रियां चोटिल भी हुईं थीं।

सभी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो फिर से करेंगे प्रदर्शन

मांग के अनुसार मानदेय न बढ़ने से महामंत्री रमा देवी वर्मा ने कहा, अगर हमारी सभी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो हम इसी तरह प्रदर्शन फिर से करेंगे। हमारी मांगों को लेकर विचार करने को बोला है। पिछले दो दिनों से धरने पर बैठी अलीगढ़ जिले की श्वेता सिंह (29 वर्ष) बताती हैं, सरकार को हमारी दिक्कते नहीं दिखती है। हम से ज्यादा तो एक मजदूर कमा लेता है। जैसे शिक्षामित्रों ने अपनी मांगों को मनवाया है, ऐसे ही हम भी अपनी मांगों को मनवाऐंगे। वहीं महोबा जिले से आई रेखा सेठी (40 वर्ष) बताती हैं, उत्तर प्रदेश को छोडकर हर राज्य में आंगनबाड़ियों को दस हजार रुपए तक मानदेय मिल रहा है तो उत्तर प्रदेश में क्यों नही। जब तक मांगों को पूरा नहीं करेंगे हम लोग ऐसे ही धरने देते रहेंगे। धरने के चलते शहर में दो दिन से यातायात व्यवस्था भी चरमराई हुई थी घोषणा के बाद इससे लोगों को काफी राहत मिलेगी।

protest of aaganbadi workers in lucknow

ये है आंगनवाड़ी कार्यकर्त्रियों की प्रमुख मांग

  • आंगनवाड़ी कार्यकर्त्रियों को राज्य कर्मचारी घोषित करन
  • आंगनवाड़ी कार्यकर्त्रियों को 13 हजार व सहायिकाओं को 9 हजार रुपये प्रतिमाह मानदेय देन
  • बीएलओ, निर्वाचन, गैर सरकारी आईसीडीएस कार्यो में डयूटी न लगाने।
  • कार्यकर्त्रियों को ग्राम पंचायत विकास अधिकारी पद में 25 प्रतिशत कोटा मिल ।
  • कार्यकर्त्रियों को दो सौ व सहायिकाओं को सौ रुपये वार्षिक वृद्धि हो ।
  • मुख्य सेविकाओं के सभी रिक्त पदों पर शत प्रतिशत आंगनवाडी कार्यकर्त्रियों को शत प्रतिशत वरिष्ठता एवं योग्यता के आधार पर भरा जाए ।
  • कार्यकर्त्रियों और सहायिकाओं को मई में एक माह का वार्षिक अवकास दिया जाए ।
  • चिकित्सा इलाज में भर्ती के दिनों में मानदेय देने के सहित दस मांगों को लेकर कार्यकत्रियां हड़ताल पर हैं।

Share it
Share it
Share it
Top