क्यों महत्वपूर्ण है बारामुला, जहाँ उरी के बाद पहला आत्मघाती हमला हुआ  

क्यों महत्वपूर्ण है बारामुला, जहाँ उरी के बाद पहला आत्मघाती हमला हुआ  बारामुला में आतंकी हमला।

नयी दिल्ली। जम्मू कश्मीर की राजधानी बारामुला शहर, जहाँ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आदेशित पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक के बाद सेना पर पहला आत्मघाती हमला हुआ है। एक महत्वपूर्ण सैनिक बेस है ,जिसका भारत और पाकिस्तान के इतिहास से गहरा रिश्ता है। अक्टूबर 1947 में इसी शहर में हुई घटनाओं के कारण आज कश्मीर भारत के पास है, वर्ना कश्मीर घाटी पाकिस्तान का हिस्सा होती।

श्रीनगर से लगभग 55 किलोमीटर की दूरी पर स्थित बारामुला वो शहर है जो ऊंचे देवदार के पेड़ों से घिरे एक ख़ूबसूरत हाईवे पर स्थित है। इसी हाईवे पर, बारामुला से सिर्फ 125 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है मुज़फ़्फ़राबाद, पाकिस्तान-नियंत्रित कश्मीर की राजधानी। यही वो हाईवे है जिस से श्रीनगर से मुज़्ज़फ़राबाद जाने वाली बस होकर जाती है। सैन्य दृष्टि से ये एक महत्वपूर्ण शहर है और यहाँ पिछले दशकों में लगातार हमले होते रहे हैं।

जम्मू-कश्मीर।

बंटवारे के तुरंत बाद मुज़फ़्फ़राबाद से पाकिस्तानी फ़ौज-समर्थित हज़ारों कबायली आक्रमण करते इसी हाईवे से चले आये थे और तीन दिन बारामुला में भयानक लूट, बलात्कार व् हत्या की थी.

हमला

किन्तु उनके लालच के कारण बारामुला में हुई तीन दिनों की देरी की वजह से ही पाकिस्तानी फ़ौज अपने समय से श्रीनगर पर क़ब्ज़ा नहीं कर पायी और भारतीय वायु सेना ने तेज़ी से बमबारी में उनके छक्के छुड़ा दिए.

फाइल

Tags:    army baramulla 
Share it
Share it
Share it
Top