कश्मीर हिंसाः पैलेट फायरिंग में एक लड़के की मौत के बाद श्रीनगर में कर्फ्यू जारी

कश्मीर हिंसाः पैलेट फायरिंग में एक लड़के की मौत के बाद श्रीनगर में कर्फ्यू जारीकश्मीर हिंसाः पैलेट फायरिंग में एक लड़के की मौत के बाद श्रीनगर में कर्फ्यू जारी

श्रीनगर (भाषा)। छर्रों से घायल एक नाबालिग लड़के की मौत के बाद कश्मीर घाटी में विभिन्न स्थानों पर प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा बलों के बीच ताजा झड़पें हुईं। हालांकि श्रीनगर के सात थाना क्षेत्रों में अब भी कर्फ्यू लगा है।

सत्तारुढ़ पीडीपी ने बच्चे की मौत के मामले में समयबद्ध जांच कराने की मांग की है। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि सफकदल थाना क्षेत्र के सैदापोरा में शुक्रवार को जुनैद अखून के सिर और सीने में छर्रे लग गए थे। उसकी सौरा के एसकेआईएमएस अस्पताल में मृत्यु हो गई। कश्मीर में पिछले तीन महीनों से चल रही हिंसा में मरने वालों की संख्या बढ़कर 84 हो गई है।

पुलिस का कहना है कि लड़का प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा बलों के बीच हुई झड़प के दौरान घायल हुआ था। हालांकि स्थानीय निवासियों का आरोप है कि जुनैद प्रदर्शन में शामिल नहीं था। पुलिस ने बताया कि जुनैद की उम्र 12 साल थी। शहर के ईदगाह क्षेत्र के सम्मानित लोगों के शिष्टमंडल का हवाला देते हुए पीडीपी ने कहा कि बल प्रयोग बिना किसी उकसावे के और बहुत ज्यादा था। पार्टी ने इसकी समयबद्ध जांच और उसके बाद कार्रवाई की मांग की है। पार्टी के एक प्रवक्ता ने बयान में कहा,‘‘पीडीपी ने जुनैद अहमद अखून की मौत के मामले में त्वरित और समबद्ध जांच की तथा दोषी पाये जाने वालों के खिलाफ समुचित कार्रवाई की मांग की है.'' प्रवक्ता ने कहा कि पार्टी अनपेक्षित बल प्रयोग की खबरों से दुखी है। बच्चे के शव को अंतिम संस्कार के लिए शनिवार सुबह उसके परिवार को सौंपा गया। उस दौरान कर्फ्यू का उल्लंघन करते हुए बड़ी संख्या में लोग उसके घर के बाहर जमा हो गए और बाद में जनाजे के जुलूस में ईदगाह की ओर भी गए। हालांकि पुलिस ने इस जुलूस को ईदगाह मैदान के पास रोक दिया जिसके कारण सुरक्षा बलों के साथ उनकी झडप हो गई।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top