ट्रोल किए जाने पर ‘दंगल’ गर्ल ज़ायरा ने सोशल मीडिया पर मांगी माफी

ट्रोल किए जाने पर ‘दंगल’ गर्ल ज़ायरा ने सोशल मीडिया पर मांगी माफीज़ायरा ने फिल्म दंगल में गीता फोगट के बाल किरदार को निभाया था।

श्रीनगर (आईएएनएस)। अभिनेता आमिर खान की फिल्म 'दंगल' में अपने अभिनय से लोगों का दिल जीतने वाली जम्मू व कश्मीर निवासी जायरा वसीम ने राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से मुलाकात करने को लेकर सोमवार को सोशल मीडिया पर कश्मीरियों से माफी मांगी। फिल्म में बेहतरीन अभिनय के लिए प्रशंसा बटोरने वाली 16 वर्षीय अभिनेत्री ने शनिवार को मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से मुलाकात की थी।

मुख्यमंत्री के साथ बैठक की तस्वीर सामने आने के बाद श्रीनगर की रहने वाली जायरा को सोशल मीडिया पर लोगों ने जमकर ट्रोल किया। उन्हें सोशल मीडिया पर कई तरह की धमकियां मिलने लगी। कुछ से तो जान से मारने तक की धमकी मिलने लगी। इसके बाद जायरा ने फेसबुक और ट्विटर पर माफी मांगी। हालांकि माफी मांगने के 3 घंटे बाद ही जायरा ने सोशल मीडिया से माफीनामा वाला अपना पोस्ट विवाद बढ़ने के बाद हटा लिया है।

इसी फोटो पर लोगों ने ज़ायरा को सोशल मीडिया पर किया था परेशान

महबूबा ने जायरा से उनकी पढ़ाई और अन्य शौक के बारे में बातचीत की थी। कश्मीरियों की भावनाओं को 'आहत' करने को लेकर उन्होंने सोमवार को सोशल मीडिया पर एक माफीनामा पोस्ट किया।
माफी के कारणों का जिक्र किए बिना अभिनेत्री ने अपने 'खुले माफीनामे' में लिखा कि वह नहीं चाहती हैं कि कोई उनके कदमों पर चले या किसी भी रूप में उन्हें अपना आदर्श माने।

क्या लिखा फेसबुक पर

उन्होंने कहा, ‘मैं जो कुछ भी कर रही हूं, मुझे उस पर गर्व नहीं है और मैं सभी लोगों खासकर युवाओं से कहना चाहती हूं कि मौजूदा वक्त में और इतिहास में कई सच्चे रोल मॉडल हैं।’ मुख्यमंत्री से हालिया मुलाकात पर माफी की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा, ‘मैं जानती हूं कि मेरी हालिया गतिविधियों या जिनसे मैं मिली हूं उसे लेकर कई लोग आहत हैं।’ उन्होंने लिखा, ‘मैं इसके पीछे की भावनाओं को समझती हूं, खासकर पिछले छह महीने के दौरान (घाटी में) जो हुआ, उसके परिप्रेक्ष्य में।’

ज़ायरा ने फेसबुक पर मांगी माफी

ज़ायरा के समर्थन में उतरीं बबीता फोगट और ज़ावेद अख्तर


जम्मू एवं कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने जायरा के समर्थन में ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, ‘मात्र 16 साल की एक लड़की को माफी मांगने के लिए मजबूर नहीं किया जाना चाहिए, वह भी महबूबा मुफ्ती से मुलाकात को लेकर। हम किधर जा रहे हैं!!! उन्होंने कहा, ‘मुझे महबूबा मुफ्ती से समस्या है, जो अपनी विफलता छिपाने के लिए दूसरे लोगों की सफलता का इस्तेमाल कर रही हैं, लेकिन उनसे मिलने वाले लोगों को क्यों दंडित/ट्रॉल किया जाए?’

वहीं मशहूर पटलेखा लेखक जावेद अख्तर ने भी जायरा के समर्थन में ट्वीट किया, ‘जो अपनी छतों से आज़ादी-आज़ादी का नारा लगाते हैं दूसरों को एक रत्तीभर भी आज़ादी नहीं देते हैं। बेचारी ज़ायरा वसीम को अपनी सफलता के लिए माफी मांगनी पड़ी। शर्मनाक।’

रेस्लर गीता फोगाट ने जायरा का समर्थन करते हुए कहा है, 'धाकड़ लड़कियों का रोल किया है उसने तो उसको डरने और शर्मिंदा होने की कोई जरूरत नहीं है।’

पिछले साल आठ जुलाई को आतंकवादी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से ही कश्मीर हिंसा की आग में जल उठा। उसकी मौत के बाद घाटी में देश विरोधी प्रदर्शन शुरू हो गए, जिसके कारण घाटी में दो महीने तक कर्फ्यू लगा रहा।

Share it
Top