‘नोटबंदी के बाद जारी हुए 9.2 लाख करोड़ रुपये के नए नोट’

‘नोटबंदी के बाद जारी हुए 9.2 लाख करोड़ रुपये के नए नोट’भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर उर्जित पटेल

नई दिल्ली (आईएएनएस)। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर उर्जित पटेल ने बुधवार को एक संसदीय समिति को बताया कि नोटबंदी की घोषणा के बाद से 9.2 लाख करोड़ रुपये के नए नोट जारी किए जा चुके हैं। वित्त मामलों की स्थायी समिति के सदस्य सौगत रॉय ने RBI गवर्नर के साथ हुई बैठक के बाद कहा, ''जब उनसे पूछा गया कि कितने रुपये के नए नोट जारी किए गए, तो उन्होंने बताया कि नौ लाख करोड़ से अधिक राशि के नए नोट अब तक जारी कर दिए गए हैं।''

RBI गवर्नर ने बताया कि केंद्र सरकार ने RBI को नोटबंदी का सुझाव दिया था। इसके बाद बोर्ड ने राय मशविरा कर नोटबंदी का फैसला लिया।
सौगत रॉय, सांसद, तृणमूल कांग्रेस

रॉय ने कहा, ''नोटबंदी के बाद कितनी राशि के पुराने अमान्य करार कर दिए नोट बैंकों में जमा हुए, पूछने पर उर्जित ने बताया कि अभी वह सही-सही आंकड़े नहीं दे सकते, क्योंकि गणना का काम अभी चल रहा है।''

विपक्षी दल के सदस्यों के अनुसार, उर्जित यह बताने में भी असमर्थ रहे कि स्थिति कब तक सामान्य होगी और RBI के अन्य अधिकारी बचाव की मुद्रा में रहे।

वित्त मामलों की स्थायी समिति की इस बैठक में केंद्रीय वित्त मंत्रालय के सभी विभागों के सचिव और बैंक संघों के प्रतिनिधि मौजूद थे। कांग्रेस सांसद वीरप्पा मोइली इस संसदीय समिति के अध्यक्ष हैं। RBI ने अब तक नहीं बताया कि अवैध करार दे दिए गए 15.44 लाख करोड़ रुपयों में से कितनी राशि बैंकों में वापस आ चुकी है।

इससे पहले सात दिसंबर, 2016 को मौद्रिक नीति पर संवाददाता सम्मेलन में डिप्टी गवर्नर आर गांधी ने बताया था कि नोटबंदी के बाद छह दिसंबर, 2016 तक चार लाख करोड़ रुपये के नए नोट जारी किए जा चुके हैं, जिसमें से 1.06 लाख करोड़ रुपये की राशि 100 रुपये से लेकर उससे कम राशि के नोटों के रूप में जारी हुए तथा 2.94 लाख करोड़ रुपये की राशि 500 और 2,000 रुपये के नए नोटों के रूप में किए गए।

आरबीआई ने इसके बाद 19 दिसंबर, 2016 को जारी नए आंकड़ों में कहा था कि नोटबंदी के बाद से कुल 5.93 लाख करोड़ रुपये की राशि के नोट जारी किए गए हैं।

Share it
Share it
Share it
Top