‘अमेरिकी मस्जिदों को मिले धमकी भरे पत्र’ 

‘अमेरिकी मस्जिदों को मिले धमकी भरे पत्र’ अमेरिकी-इस्लामी संबंध परिषद (सीएआईआर-जीए) के कार्यकारी निदेशक एडवर्ड अहमद मिशेल ने दावा किया कि चुनाव के दिन से ही मुसलमान विरोधी कट्टरता बढ़ी है।

वाशिंगटन (भाषा)। डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति चुनाव में जीत के बाद मुस्लिमों के खिलाफ घृणा अपराध में तेजी की खबरों के बीच अमेरिका के कुछ मस्जिदों को कथित तौर पर धमकी भरे पत्र और ईमेल मिले हैं।

अब तक कैलिफोर्निया के तीन मस्जिदों और जॉर्जिया के एक मस्जिद को गुमनाम व्यक्ति के हस्तलिखित पत्र मिले हैं। इन पत्रों में मुस्लिमों को चेतावनी देते हुए लिखा गया है, ‘‘आप अपने बैग पैक करिए और खिसक लीजिए, क्योंकि ट्रंप अमेरिका को साफ करने और इसे फिर से चमकदार बनाने जा रहे हैं।'' अमेरिकी-इस्लामी संबंध परिषद (सीएआईआर-जीए) के कार्यकारी निदेशक एडवर्ड अहमद मिशेल ने दावा किया कि चुनाव के दिन से ही मुसलमान विरोधी कट्टरता बढ़ी है।

उन्होंने कहा, ‘‘जो भी यह पत्र भेज रहा है, उन्हें यह मालूम होना चाहिए कि उन लोगों ने ऐसा करके केवल हमारी आस्था को मानने, अपने अधिकारों की रक्षा करने और पड़ोसियों के साथ रिश्ता बनाने के हमारे संकल्प को और मजबूत किया है।'' सीएआईआर एके लॉस एंजिलिस चैप्टर के निदेशक हुसम एलॉश ने बताया कि नफरत फैलाने वाले ये पत्र मुस्लिमों को धमकाने के लिए तैयार किये गये हैं।

एक बयान में सीएआईआर ने दावा किया है कि आठ नवंबर के आम चुनावों के बाद देश भर में मुस्लिम विरोधी 100 से अधिक घटनाएं हुई हैं। साउदर्न पोवर्टी लॉ सेंटर ने विभिन्न अल्पसंख्यक समूहों को निशाना बनाकर की गयी 700 घटनाओं को दर्ज किया है।

अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति के रुप में निवार्चित होने के बाद ट्रंप ने सभी तरह के घृणा अपराधों के खिलाफ बात की थी। हालांकि देश के विभिन्न हिस्सों के मस्जिदों को मिल रहे धमकी भरे पत्र को लेकर उन्होंने कोई बयान नहीं दिया है। ट्रांजिशन टीम को भेजा गया इससे जुड़ा एक सवाल अब भी अनुत्तरित है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top