ट्रांसजेंडरों को भी दिया जाना चाहिए आरक्षणः अठावले

ट्रांसजेंडरों को भी दिया जाना चाहिए आरक्षणः अठावलेकेंद्रीय मंत्री रामदास अठावले।

नई दिल्ली (भाषा)। केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने सरकारी नौकरियों में दिव्यांग लोगों को दिए जाने वाले आरक्षण की तरह ही ट्रांसजेंडरों को भी आरक्षण दिए जाने की वकालत की है।

वे (ट्रांसजेंडर) भी इंसान हैं और उन्हें भी आरक्षण दिया जाना चाहिए। जिस तरह दिव्यांगों के लिए कोटा तय है उसी तरह ट्रांसजेंडरों के लिए भी कोटा निश्चित किया जाना चाहिए।
रामदास अठावले, केंद्रीय मंत्री

दिव्यांग लोगों के लिए तीन फीसदी कोटा तय है। सरकार संसद के मानसून सत्र में लोकसभा में ट्रांसजेंडर व्यक्ति (अधिकारों का संरक्षण) विधेयक, 2016 लेकर आई थी। इस विधेयक का उद्देश्य ट्रांसजेंडर शब्द की व्याख्या करना और समुदाय के खिलाफ भेदभाव को रोकना है। ऐसी खबरें हैं कि इस विधेयक के मसौदे में सरकार ने ट्रांसजेंडरों को अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) की श्रेणी के तहत लाने का प्रस्ताव दिया था जिसे राष्ट्रीय पिछडा वर्ग आयोग (एनसीबीसी) ने अस्वीकार कर दिया।

अब इस विधेयक को संसदीय पैनल के पास भेजा गया है जिसने इस पर जनता से राय मांगी है ताकि ऐसा कानून बनाया जा सके जिससे इस समुदाय के अधिकारों का संरक्षण हो सके। विधेयक में ट्रांसजेंडरों को अपनी लैंगिक पहचान खुद तय करने का अधिकार देने का प्रस्ताव है। वर्ष 2011 की जनसंख्या के मुताबिक भारत में छह लाख लोग ट्रांसजेंडर समुदाय से हैं।

Share it
Share it
Share it
Top