तीन घंटे में ही खाली हो रहे एटीएम, प्रति दिन तीन हजार लोग कर रहे निकासी

तीन घंटे में ही खाली हो रहे एटीएम, प्रति दिन तीन हजार लोग कर रहे निकासीमोदी सरकार की घोषणा के बाद बंद 500 रुपए के नोट।

लखनऊ। बड़े नोटों को चलन से बाहर करने की मुहिम से फैली अफरातफरी के बीच 40 हजार लोग ऐसे हैं जो बीते 72 घंटे से सोए तक नहीं। वे दिन-रात एटीएम को 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों से खाली करने में लगे हैं। उनकी मेहनत रंग लाई है और उन्होंने करीब 90 फीसदी एटीएम खाली कर भी लिए हैं लेकिन काम अभी पूरा नहीं हुआ है क्योंकि 100 रुपए के नोट अब उनमें भरने हैं।

इस बीच, एटीएम से निकासी में कई गुना की बढ़ोतरी हुई है। अनुमान के तौर पर एक एटीएम को भरने में 20 मिनट लगता है लेकिन तीसरे घंटे ही वे खाली हो जा रहे हैं। पहले 100 लोग एटीएम से निकासी करते थे जो अब बढ़कर तीन हजार व्यक्ति प्रति दिन पर पहुंच गई है।

कैश लाजिस्टिक्स एसोसिएशन के पास दिल्ली-एनसीआर में एटीएम में नोट भरने का ठेका है। इसके अध्यक्ष ऋतुराज सिन्हा भी टीम का हौसला बढ़ा रहे हैं ताकि जल्द से जल्द नकदी की कमी का संकट खत्म हो। सिन्हा बताते हैं कि जब बड़े नोट का चलन बंद हुआ तभी मैंने अपने कर्मचारियों को कमर कसने की ताकीद की थी। क्योंकि दो लाख दो हजार एटीएम में 500-1000 रुपए के नोट निकालकर दूसरे नोट भरना आसान नहीं है। लेकिन हम पूरी मेहनत से लगे हैं।

सिर्फ 10 लाख रुपए भर पा रहे एटीएम में

अनुमान के तौर पर 650 जिलों में लगे दो लाख दो हजार एटीएम में करीब 14 लाख करोड़ के पुराने नोट हैं। ऋतुराज की टीम ने 90 फीसदी एटीएम से पुराने नोट निकाल लिए हैं लेकिन नई समस्या यह है कि पहले 500, 1000 और 100 के नोट मिलाकर एक एटीएम में 40 लाख रुपए भरे जा सकते थे लेकिन अब सिर्फ 10 लाख रुपए ही भरे जा पा रहे हैं। कारण 2000 और 500 रुपए के नए नोट डिजाइन और आकार के कारण एटीएम के कैसेट में नहीं समा रहे। इसलिए 100 रुपए के नोट ही भरे जा रहे हैं।


Share it
Share it
Share it
Top