अयोध्या मामले का बातचीत के जरिए हल निकालने की कोशिश होनी चाहिए: बुखारी

अयोध्या मामले का बातचीत के जरिए हल निकालने की कोशिश होनी चाहिए: बुखारीसैयद अहमद बुखारी।

नई दिल्ली (भाषा)। उच्चतम न्यायालय की ओर से आज राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद को अदालत से बाहर सुलझाने के लिए कहे जाने का स्वागत करते हुए दिल्ली स्थित जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने कहा कि इस मामले को अदालत से बाहर हल करने का प्रयास किया जाना चाहिए।

बुखारी ने आज एक बयान में कहा, ‘‘हम देश की शीर्ष अदालत की टिप्पणी का स्वागत करते हैं। मामले को अदालत से बाहर हल करने की कोशिश होनी चाहिए। दोनों पक्ष बैठकर बातचीत करें और मामले को हल करने की कोशिश करें।'' उच्चतम न्यायालय ने इस विवाद को ‘‘संवेदनशील'' और ‘‘भावनात्मक मामला'' बताते हुए आज कहा कि इसका हल तलाश करने के लिए सभी संबंधित पक्षों को नए सिरे से प्रयास करने चाहिए।

प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति जे एस खेहर की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि ऐसे धार्मिक मुद्दों को बातचीत से सुलझाया जा सकता है और उन्होंने सर्वसम्मति पर पहुंचने के लिए मध्यस्थता करने की पेशकश भी की। पीठ में न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड और न्यायमूर्ति एस के कौल भी शामिल हैं। पीठ ने कहा, ‘‘ये धर्म और भावनाओं से जुड़े मुद्दे हैं। ये ऐसे मुद्दे है जहां विवाद को खत्म करने के लिए सभी पक्षों को एक साथ बैठना चाहिए और सर्वसम्मति से कोई निर्णय लेना चाहिए। आप सभी साथ बैठ सकते हैं और सौहार्द्रपूर्ण बैठक कर सकते हैं।

First Published: 2017-03-21 19:00:12.0

Share it
Share it
Share it
Top