विरासत और विकास की थीम पर 25 नवंबर से शुरू होगा लखनऊ महोत्सव

विरासत और विकास की थीम पर 25 नवंबर से शुरू होगा लखनऊ महोत्सवप्रतीकात्मक फोटो (साभार: गूगल)

लखनऊ। राजधानी की शान माना जाने वाला लखनऊ महोत्सव आगामी दिनों शुरू हो रहा है। इस महोत्सव की तैयारी लगभग पूरी हो चुकी है। अवधवासियों के मनोरंजन का पूरा ध्यान रखते हुये हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी विभिन्न आयोजन किए जाएंगे। समाजवादी सरकार के विकास का मॉडल रखते हुए लखनऊ महोत्सव की थीम को विरासत ओर विकास नाम दिया गया है। अबकी बार के महोत्सव को हर वर्ग के लिये खास बनाने के लिये पिछली बार की अपेक्षा विशेष आयोजन किए जाएंगे।

माई पार्किंग एप्प भी

पार्किंग, वाई-फाई, नोटों की जद्दोजहद से बचने के लिये ऑनलाइन शॉपिंग जैसी व्यवस्थायें भी की गई हैं। पार्किंग की असुविधा को देखते हुए माई पार्किंग एप लांच किया गया है, जिससे घर बैठे आप पार्किग की लोकेशन जान सकेंगे। विशेष आकर्षण में ऑटो एक्सपो, वोटिंग जागरूकता अभियान आदि सुविधाओें का आयोजन किया जा रहा है।

यह कलाकार होंगे शामिल

सांस्कृतिक संध्या, शास्त्रीय गायन की शोभा बढ़ाने के लिये विशेष कलाकारों को आमंत्रित किया गया है, जिसमें कैलाश खेर, शोभाना नारायण, नीती मोहन, कनिका कपूर, रूप कुमार राठौर, शिव कुमार शर्मा जैसे चर्चित कलाकार शामिल हैं। आपको हंसाने के लिये राजू श्रीवास्तव जैसे हास्य कलाकार मौजूद होंगे। इसके साथ ही राजधानी एवं प्रदेश के उभरते स्थानीय कलाकारों को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिये स्थान दिया जा रहा है। कवि सम्मेलन और मुशायरों का भी विशेष आयोजन किया जाएगा।

यह कार्यक्रम भी होंगे

महोत्सव में इस बार की प्रदर्शर्नी को भव्य स्वरूप प्रदान किया गया है, जिसमे हस्तशिल्प के शिल्पियों को भी स्थान आवंटित किया जा रहा है। युवाओं का विशेष ध्यान रखते हुये पतंग प्रतियोगिता, नौका रैली, विन्टेज कार रैली, युवा महोत्सव, नाट्य समारोह, कुश्ती आदि इवेन्ट आयोजित किये जा रहे है। महोत्सव में लोगों को लाने और ले जाने क लिये नगर बस सेवा की ओर लगभग 100 से अधिक बसों की व्यवस्था की गई है, जिससे आम लोगों को दिक्कत न हो। इस बार के महोत्सव में शुल्क में कोई बढ़ोत्तरी नही की गई है। विगत वर्षों की भांति इस वर्ष भी प्रवेश शुल्क 10 रूपये रखा गया है, जिसमें दिव्यांगों को नि:शुल्क प्रवेश की व्यवस्था भी शामिल है। महोत्सव का आयोजन पर्यटन, जिला प्रशासन, लखनऊ विकास प्राधिकरण व अन्य सहयोगी संस्थाओ की ओर से किया जा रहा है।

Share it
Top