बच्चों की तस्करी के आरोप में भाजपा की महिला नेता गिरफ्तार, कैलाश विजयवर्गीय और रूपा गांगुली पर भी आरोप

बच्चों की तस्करी के आरोप में भाजपा की महिला नेता गिरफ्तार, कैलाश विजयवर्गीय और रूपा गांगुली पर भी आरोपसीआईडी ने जूही चौधरी को नेपाल सीमा के पास से गिरफ्तार किया।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में बीजेपी महिला मोर्चा की नेता जूही चौधरी को बाल तस्करी के आरोप में आज गिरफ्तार कर लिया गया है। सीआईडी ने उन्हें दार्जिलिंग जिले के बतासी इलाके से गिरफ्तार किया है। उनकी लोकेशन नेपाल सीमा के पास मिली थी। सीआईडी के डीआईजी निशत परवेज ने कहा कि सोमवार को मिली लोकेशन के बाद टीम ने मंगलवार को उन्हें गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में बीजेपी के दिग्गज नेता कैलाश विजयवर्गीय और रूपा गांगुली का नाम भी सामने आ रहा है।

जूही चौधरी की गिरफ्तारी इस मामले के मुख्य आरोपी चंदना चक्रवर्ती के पकड़े जाने और पूछताछ के बाद हुई। चंदना को 18 फरवरी को गिरफ्तार किया गया था। उसने पूछताछ के दौरान आरोप लगाया कि जूही चौधरी ने तस्करी रैकेट को लेकर कैलाश विजयवर्गीय और रूपा गांगुली से मुलाकात की थी। चंदना ने कहा कि उसे फंसाया जा रहा है। उसने कहा, 'जूही ऐसे कामों में बीते तीन साल से लगी है। उसने मुझे मदद का वादा किया था और कहा था कि वह दिल्ली में कई बड़े नेताओं को जानती है। अगर कुछ भी गैरकानूनी हुआ तो उसके लिए जूही जिम्मेदार है। वहीं विजयवर्गीय ने अपने ऊपर लगाए गए सभी आरोपों को नकार दिया है। उन्होंने कहा कि यह पंश्चिम बंगाल की तृणमूल कांग्रेस सरकार की साजिश है ताकि राज्य में बीजेपी की छवि खराब की जा सके। उन्होंने कहा, 'ऐसे किसी मामले से मेरा लेना देना नहीं है। मैं किसी चंदना को नहीं जानता। जहां तक मुझे याद है मैं शायद जूही चौधरी से मिला हूं। ये सारे आरोप बेबुनियाद हैं। हम सब जानते हैं कि बंगाल की पुलिस वही करती है जो टीएमसी कहती है। पहले भी टीएमसी की साजिश के तहत बीजेपी नेता जेपी मजूमदार और अन्य पर आरोप मढ़े गए थे। सीआईडी के एजीडी राजेश कुमार ने कहा, 'जिन लोगों के नाम इसमें सामने आए हैं उनके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा। जांच की जा रही है।'

एक अधिकारी ने कहा, 'चंदना चक्रवर्ती दिल्ली में बीजेपी की एक बड़ी महिला नेता से मिलने वाली थी। इसके लिए उसने जूही की मदद ली थी लेकिन वो ऐसा कर पाती इससे पहले ही गिरफ्तार हो गई। जूही ने चंदना को इस बात का भी भरोसा दिया था कि वह उसके एनजीओ बिमला शिशु गृह के लिए 22 लाख रुपये डोनेशन का इंतजाम भी कराएंगी।

मामले की जांच कर रही सीआईडी ने बिमला शिशु गृह, आश्रय स्टे होम और नॉर्थ बंगाल पीपल्स डेवलपमेंट कमेटी पर नकेल कसी है। आरोप है कि चंदना अपनी सहयोगी सोनाली मंडल के साथ मिलकर बच्चों को विदेशियों को बेचती थी। दोनों को 13 दिन की पुलिस कस्टडी में भेजा गया है। चंदना के भाई भौमिक को भी गिरफ्तार किया गया है। पूछताछ के दौरान जूही चौधरी का नाम सामने आया जिसके बाद सीआईडी ने उनके खिलाफ भी केस दर्ज कर लिया।

Share it
Share it
Share it
Top