भाजपा सांसदों का आठ नवंबर से पहले का भी बैंक ब्योरा मुहैया कराएं: सिब्बल

भाजपा सांसदों का आठ नवंबर से पहले का भी बैंक ब्योरा मुहैया कराएं: सिब्बलकपिल सिब्बल (फोटो साभार: गूगल)।

नई दिल्ली (भाषा)। कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि यदि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नोटबंदी के मुद्दे पर वास्तव में गंभीर हैं, तो उन्हें भाजपा और इसके सांसदों के बैंक लेन देन का आठ नवंबर से पहले का ब्योरा मुहैया करना चाहिए। बता दें कि आठ नवंबर को प्रधानमंत्री ने नोटबंदी की घोषणा की थी। इससे पहले दिन में मोदी ने भाजपा सांसदों, मंत्रियों और विधायकों को आठ नवंबर और 31 दिसंबर के बीच के अपने बैंक खाते से लेन देन का ब्योरा एक जनवरी 2017 को पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को सौंपने को कहा। इसके बाद कांग्रेस की यह मांग आई है।

तब वास्तव में इस मुद्दे पर गंभीर हैं प्रधानमंत्री

कपिल सिब्बल ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री के कदम से मैं प्रभावित हुआ क्योंकि वह जानते हैं कि यदि उन्होंने आठ नवंबर से पहले का वित्तीय ब्योरा मांगा तो यह एक समस्या होगी। यही कारण है कि उन्होंने आठ नवंबर के बाद का वित्तीय ब्योरा मांगा है।'' पार्टी प्रवक्ता ने कहा, ‘‘पहले हमें बताइए, शाखाओं को किस चेक से भुगतान किया गया? हमें बताइए कि सांसदों और पार्टी ने आठ नवंबर से पहले कितना पैसा जमा किया? हमें बताया जाए कि पश्चिम बंगाल और बिहार में क्या हुआ? यदि उन्होंने हमें ये सब बताया, तो मुझे लगेगा कि प्रधानमंत्री वास्तव में इस मुद्दे पर गंभीर हैं।''

अरुण जेटली ने हमें सिखाया है

उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि वह भाजपा पर कोई आरोप नहीं लगा रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं सिर्फ इतना कह रहा हूं कि यदि आपको पारदर्शिता चाहिए तो आप बताएं कि सांसदों और पार्टी खाते में आठ नवंबर से पहले कितना पैसा जमा किया।'' संसद में व्यवधान के मुद्दे पर सिब्बल ने हल्के-फुल्के अंदाज में कहा, ‘‘यह वित्त मंत्री अरुण जेटली ने हमें सिखाया है। कृपया उनसे पूछिए। उनका कहना है कि व्यवधान संसदीय रणनीति का हिस्सा है, नहीं तो संदेश नहीं जाएगा। इसलिए, हम महान सांसद से सीख रहे हैं।'' हालांकि, उन्होंने स्पष्ट किया कि विपक्षी पार्टी लोगों के मुद्दे उठा रही है।

Share it
Top