कालेधन के ‘कैंसर’ का उपचार है नोटबंदी: अनुप्रिया पटेल 

कालेधन के ‘कैंसर’ का उपचार है नोटबंदी: अनुप्रिया पटेल नोटबंदी से ‘कालेधन के कैंसर’ का उपचार हो रहा है और देश की जनता इस निर्णय को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हैः अनुप्रिया पटेल

नई दिल्ली (भाषा)। नोटबंदी को लेकर सरकार और विपक्ष के बीच चल रही जुबानी जंग के बीच केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने रविवार को कहा कि केंद्र सरकार के इस फैसले से ‘कालेधन के कैंसर' का उपचार हो रहा है और देश की जनता इस निर्णय को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ है।

अपना दल की नेता ने यह भी स्वीकार किया कि आम लोगों को परेशानियां हो रही हैं, हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि सरकार के स्तर पर कोई कमी नहीं है, बल्कि बैंकों के स्तर से दिक्कतें पैंदा हुई हैं और आने वाले दिनों में चीजें सुधर जाएंगी। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अनुप्रिया ने कहा, ‘‘कालाधन कैंसर की तरह है और इस बीमारी के उपचार में तकलीफ होती है, लेकिन आगे चीजें सही हो जाएंगी। सरकार ने कालेधन के खिलाफ यह कदम उठाया है और इस फैसले को लेकर जनता प्रधानमंत्री और सरकार के साथ है।''

उन्होंने कहा, ‘‘यह बात सही है कि आम लोगों को परेशानी हुई है, लेकिन यह इसलिए नहीं है कि सरकार के स्तर पर कोई कमी रह गई है। यह दिक्कत बैंकों के स्तर पर है। आपने देखा है कि प्रवर्तन निदेशालय ने छापेमारी की है और कई लोगों को पकड़ा है। बिचौलिये हर जगह हैं और यही लोग अडंगे लगाते हैं। यह जरुर है कि नोटबंदी की वजह से कालेधन की समानांतर अर्थव्यवस्था खत्म होगी और देश की अर्थव्यवस्था स्वच्छ होगी।''

यह पूछे जाने पर कि सरकार के इस कदम का असर क्या उत्तर प्रदेश चुनाव पर होगा तो मिर्जापुर से सांसद ने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि इसका असर होगा। लोगों को महसूस हो रहा है कि यह फैसला जनता के हित में है। आप देख लीजिये, उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री की रैलियों में किस कदर भीड़ जुट रही है। अगर किसी तरह की नाराजगी होती तो भीड़ जुटती? दूसरे नेता भी रैलियां कर रहे हैं, लेकिन उनकी रैलियों में भीड़ नहीं है। स्पष्ट है कि देश की जनता प्रधानमंत्री जी के साथ है।''

अनुप्रिया पटेल ने ‘नोटबंदी की वजह से' जान गंवाने वाले लोगों के परिजन के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की ओर से दो-दो लाख रुपये के मुआवजे का एलान किये जाने को लेकर उन पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, ‘‘एक तरफ उत्तर प्रदेश की पुलिस कतारों में खड़े लोगों पर लाठियां भांज रही है तो दूसरी तरफ मुख्यमंत्री मुआवजे का एलान कर रहे हैं। अगर वह इस मामले पर इतने संवेदनशील हैं तो फिर उनकी पुलिस लोगों पर डंडे क्यों बरसा रही है।''

केंद्रीय मंत्री ने आरोप लगाया, ‘‘उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था की स्थिति ध्वस्त हो चुकी है। पुलिस प्रशासन पर सरकार का कोई नियंत्रण नहीं दिख रहा है। लोग परेशान हैं और चुनाव का इंतजार कर रहे हैं। इस बार लोगों ने सपा को सत्ता से बाहर करने का मना बना लिया है।'' उन्होंने उम्मीद जताई कि उत्तर प्रदेश में BJP के नेतृत्व में प्रचंड बहुमत की सरकार बनेगी।

Share it
Share it
Share it
Top