चीनी पुरातत्वविदों ने पानी के नीचे से खोज निकाला अरुबों रुपये का खजाना

चीनी पुरातत्वविदों ने पानी के नीचे से खोज निकाला अरुबों रुपये का खजानासोने और चांदियों की 10,000 बहुमूल्य चीजें बरामद

बीजिंग (भाषा)। चीनी पुरातत्वविदों ने कहा है कि उन्हें दक्षिण-पश्चिमी प्रांत सिचुआन की नदी में 300 साल पहले डूबा हुआ खजाना मिला है। पुरातत्वविदों को यहांं से सोने और चांदियों की 10,000 बहुमूल्य चीजें बरामद हुई है।

सिचुआन प्रांतीय सांस्कृतिक अवशेष और पुरातत्व अनुसंधान संस्थान के निदेशक गाओ डालून ने बताया कि सामानों में बड़ा हिस्सा सोना, चांदी, तांबे के सिक्के, आभूषण और लोहे से बनी हथियारों का है। हथियारों में तलवार, चाकू और भाले भी शामिल हैं। चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने पुरातत्वविदों के हवाले से कहा है कि सोने और चांदी की बर्तनों पर छपी चीजें बिल्कुल ही साफ हैं और आभूषणों के ऊपर किया गया काम उस समय के शिल्प कौशल को दिखाता है।

सिचुआन प्रांत ने खजाना खोजने के लिए परियोजना की शुरआत जनवरी में की थी क्योंकि उस समय से यहां सूखे का मौसम शुरु हो गया था। इनके अलावा सोने और चांदी के बर्तन भी पाए गए हैं। आभूषणों की डिजाइन उस दौर के शिल्प कौशल को दिखाता है। मिंजियांग नदी में यह खोदाई जिस जगह पर की गई वह सिचुआन की राजधानी चेंगदू से 50 किमी दूर है। यहां पर खजाना खोजने का काम इस साल जनवरी में शुरू हुआ और अप्रैल तक चलेगा। इस समय यहां सूखे का मौसम रहता है। पुरातत्वविदों को और वस्तु मिलने की उम्मीद है।

पुरातत्वविदों ने बताया है कि खजाने के लिए उत्खनन का काम अप्रैल चलेगा। उन्हें उम्मीद है कि यहां मिट्टी में दबी और अधिक सामग्री को बरामद किया जा सकेगा।

Share it
Top