2017-18 से फिर शुरू होगी सीबीएससी स्कूलों में दसवीं की बोर्ड परीक्षाः प्रकाश जावड़ेकर

2017-18 से फिर शुरू होगी सीबीएससी स्कूलों में दसवीं की बोर्ड परीक्षाः प्रकाश जावड़ेकरकपिल सिब्बल ने 2010 में जब वो देश के शिक्षा मंत्री थे तब उन्होंने CBSE बोर्ड परीक्षा को वैकल्पिक बनाया था।

नई दिल्ली। कपिल सिब्बल जब देश के शिक्षा मंत्री थे तब उन्होंने CBSE बोर्ड परीक्षा को वैकल्पिक बनाया था लेकिन मोजूदा केंद्रीय शिक्षा मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसमें फिरसे बदलाव किया है। उन्होंने कहा है कि अगले सत्र से (2017-18) CBSE स्कूलों में दसवीं की बोर्ड परीक्षा फिर से शुरू हो जाएगी। यही नहीं, उन्होंने कहा कि पांचवी और आठवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं भी होंगी लेकिन इसका फैसला राज्य सरकारें लेंगी। इस बारे में प्रस्ताव पहले कैबिनेट में लाया जाएगा और बाद में संसद से कानून पास किया जाएगा।

कपिल सिब्बल ने 2010 में जब वो देश के शिक्षा मंत्री थे तब उन्होंने CBSE बोर्ड परीक्षा को वैकल्पिक बनाया था। इसके पीछे बच्चों में बढ़ते तनाव को दूर करना मकसद था।

वर्तमान में है ये व्यवस्था

सालभर के प्रदर्शन के आधार पर बच्चों की ग्रेडिंग की जाती है। किसी को भी फेल नहीं किया जाता है। CBSE में सीधे बारहवीं में ही बोर्ड परीक्षा होती है और बच्चों को नंबर देकर पास या फेल घोषित किया जाता है।

हालांकि 2010 में ग्रेडिंग सिस्टम लागू होने के बाद ही शिकायतें मिलने लगी की इससे लर्निंग लेवल आउटकम यानि बच्चों में शिक्षा की गुणवत्ता का स्तर गिर रहा है। दिल्ली समेत ज्यादातर राज्यों ने भी दसवीं की बोर्ड परीक्षा को फिर से अनिवार्य करने की मांग की है। इसके बाद ही मोदी सरकार नए बदलाव के लिए तैयार हुई है।


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top