देहरादून परिवर्तन यात्रा रैली में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, नेता जान लें अब जनता सब जानती है

देहरादून परिवर्तन यात्रा रैली में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, नेता जान लें अब जनता सब जानती हैदेहरादून में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का स्वागत करते उत्तराखंड के राज्यपाल।

देहरादून | देहरादून परिवर्तन यात्रा रैली में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि नेता जान लें अब जनता सब जानती है। उन्होंने कहा कि हम ऐसा उत्तराखंड बनाएंगे कि अब यहां के युवाओं को बाहर जाने की जरूरत नहीं होगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आप लोग इतनी बड़ी संख्या में आए इसके लिए आप सभी का नमन करता हूं। उन्होंने कहा कि जब मैं पिछली बार इसी मैदान में आया था तो यह आधा खाली था, तब उस स्थिति में आपने सारी सीटें जीता दी थी, आज तो पूरा मैदान भरा हुआ है इस जनसैलाब को देखकर मैं चुनाव के नतीजों का अनुमान लगा सकता हूं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह चार धाम राजमार्ग परियोजना केदारनाथ हादसे में मारे गए लोगों का श्रद्धाजंलि है। उन्होंने कहाकि इस देश के लोगों के मन कभी न कभी यह बात आई ही होगी कि वे अपने माता पिता को बद्रीनाथ केदारनाथ की यात्रा कराएं पर सड़कों का बुरा हाल देख वे पीछे हट जाते हैं। यह सब उन पुरानी सरकारों कार्य है जिस वजह से आप अपनी इच्छाएं पूरी नहीं कर सकें।

प्रधानमंत्री ने कहा कि चार धाम परियोजना से इस इलाके के हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा।जल्दबाजी की योजनाओं से राजनीति चल सकती है पर समाजनीति नहीं। राजनेताओं को चेताते हुए उन्होंने कहा कि राजनेता समझ लें वो जमाना चला गया है अब जनता सब जानती है।

इससे पूर्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड में चार धाम राजमार्ग परियोजना का शिलान्यास किया। यह परियोजना चारों धामों को एक साथ जोड़ती है। इस परियोजना की लागत 12,000 करोड़ रुपए है। जिसमें से 3000 करोड़ रुपए परियोजना के लिए पास कर दिए गए है।

मोदी ने ट्वीट कर कहा, "प्रमुख बुनियादी परियोजना चार धाम राजमार्ग विकास कार्यक्रम के उद्घाटन के लिए आज (मंगलवार) देवभूमि उत्तराखंड के दौरे पर जाऊंगा।" प्रधानमंत्री ने कहा, "चार धाम राजमार्ग परियोजना के तहत 900 किलोमीटर से अधिक लंबी सड़कें बनेंगी। इस परियोजना के जरिए संपर्क और पर्यटन को काफी बढ़ावा मिलेगा।"

मोदी ने कहा, "बायपास, सुरंगों, पुलों और फ्लाईओवर्स के निर्माण से यात्रा सुविधाजनक होगी। ढलान के सही प्रकार से स्थिरीकरण से भूस्खलनों से सुरक्षा मिलेगी।" सरकार की इस पहल से उत्तराखंड की जनता व पर्यटक काफी खुश हैं।

Share it
Share it
Share it
Top