दुनिया के प्रसिद्ध हृदय चिकित्सक का अमेरिका में निधन 

दुनिया के प्रसिद्ध हृदय चिकित्सक का अमेरिका में निधन डेंटन कूली अपने चिकित्सक दल के साथ मिलकर 118,000 से ज्यादा खुली हृदय सर्जरी की।

ह्यूस्टन (भाषा)। कृत्रिम हृदय का प्रत्यारोपण करने वाले पहले और प्रसिद्ध हृदय शल्य चिकित्सक डेंटन कूली का अमेरिका में निधन हो गया। वह 96 साल के थे। टेक्सास हर्ट इंस्टीट्यूट के संस्थापक कूली ने अनेक ऐसी तकनीकों की शुरआत की, जिनका इस्तेमाल हृदय शल्य चिकित्सा में आज भी किया जाता है। उन्होंने अपने चिकित्सक दल के साथ मिलकर 118,000 से ज्यादा खुली हृदय सर्जरी की।

पूर्व राष्ट्रपति जार्ज एच डब्ल्यू बुश ने एक बयान में कहा, ‘‘बारबरा, मैं और ह्यूस्टन एवं अमेरिका के हजारों लोग आज सच्चे और महान चिकित्सक डेंटन कूली के निधन से शोक संतप्त हैं।'' उन्होंने कहा, ‘‘चिकित्सा के क्षेत्र में डेंटन की प्रमुख उपलब्धियां निश्चित तौर पर बहुत महान हैं। वह हमेशा ह्यूस्टन के सम्माननीय नागरिक रहे। हम सभी लोग, जो ह्यूस्टन को अपना घर मानते हैं, उनके कारण हमेशा इस शहर में रहने को अपना सौभाग्य मानते रहेंगे। डेंटन ने इसी शहर में ‘टेक्सास हर्ट इंस्टीट्यूट' की नींव रखी और हृदय शोध एवं तकनीक का वैश्विक केंद्र बनाया।''

उन्होंने कहा, ‘‘आप कह सकते हैं कि हमारे लिये यह बात, एक छोटी सी रात में अच्छी नींद के लिए मदद करती है और निश्चित तौर पर डेंटन एक अच्छे पति, पिता और दोस्त थे। उन्हें बहुत याद किया जाएगा।'' उनकी पत्नी लुईस गोल्डबोरफ थॉमस कूली का कुछ सप्ताह पहले 21 अक्तूबर को 92 साल की उम्र में निधन हो गया था। उनके परिवार ने हृदय शल्य चिकित्सा के क्षेत्र में अग्रणी योगदान करने, कृत्रिम हृदय विकसित करने और टेक्सास हर्ट इंस्टीट्यूट की स्थापना करने वाले संस्मरण साझा किये।

Share it
Share it
Share it
Top