यूपी में बनेगा फॉरेंसिक विश्वविद्यालय

यूपी में बनेगा फॉरेंसिक विश्वविद्यालयकार्यक्रम का उद्घाटन करते राज्यपाल राम नाईक।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के छात्रों को अब फॉरेंसिक साइंस की पढ़ाई के लिए देश प्रदेश से बाहर नहीं जाना पड़ेगा। अब उनकी पढ़ाई अपने प्रदेश में ही हो जाएगी। उत्तर प्रदेश में इसी साल फॉरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी की स्थापना होगी। यह घोषणा राज्यपाल राम नाईक ने की। इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान गोमती नगर लखनऊ में शुक्रवार से दो दिवसीय इंडियन कांग्रेस आफ फॉरेंसिक मेडिसिन एंड टाक्सिकोलॉजी के 15वें राष्ट्रीय अधिवेशन का उदघाटन करते हुए फॉरेंसिक यूनिवर्सिटी की औपचारिकताओं को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिया।

फॉरेंसिक साइंस की और भी आवश्यकता बढ़ी

राज्यपाल ने अपने संबोधन में कहा कि आज जिस तरह से अपराधिक घटनाओं को स्वरूप बदल रहा है, उससे फॉरेंसिक साइंस की और भी आवश्यकता बढ़ गई है। इस साल इस अधिवेशन का विषय पाक्सो और जेंडर समानता है। इस अधिवेशन में पोस्का यानि प्रिवेंशन आफ चिल्ड्रेन फ्राम सेक्सुअल अफेन्सेज एक्ट 2012 और लैंगिक समानता के वर्तमान आपराधिक विषमताओं पर पहले दिन चर्चा की गई। उदघाटन समारोह गृह सचिव कमल सक्सेना, महिला और बाल विकास की प्रमुख सचिव रेणुका कुमार, इंडियन कांग्रेस आफ फॉरेंसिक मेडिसिन एंड टाक्सिकोलॉजी के अध्यक्ष दलबीर सिंह, विधि विज्ञान प्रयोगशाला यूपी के निदेशक श्याम बिहारी उपाध्यक्ष सहित पूरे देश के विभिन्न राज्यों के वरिष्ठ चिकित्सक, विधि वैज्ञानिक, शोधार्थी और पुलिस के अधिकारी शामिल हुए।

कई कॉलेजों के प्रोफेसर और छात्र भी हुए शामिल

साथ ही बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर केन्द्रीय विश्वविद्यालय, केजीएमयू, एसजीपीजीआई, राममनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान और विभिन्न निजी मेडिकल कालेजों के प्रोफेसर और छात्रों ने भी हिस्सा लिया। उदघाटन सत्र में तीन पुस्तकों का भी विमोचन किया गया। उदघाटन सत्र के बाद साइंस सत्र की शुरूआत हुई, जिसमें दलबीर सिंह और डा. एसबी उपाध्याय ने प्रोटोकाल फार मेडिको लीगल एग्जामिनेशन आफ सेक्सुअल असाल्ट पर अपना प्रजेंटेशन दिया। दूसरे सत्र में प्रिवेंशन आफ चिल्ड्रेन फ्राम सेक्सुअल अफेन्सेज पर चर्चा की गई। जिसमें कविता दि्वेदी, डान मुनीष मिश्रा, डा राहुल कुमार, स्मिता मिश्रा और श्रुति त्रिपाठी ने प्रजेंटेशन दिया। इस अधिवेशन का समापन 19 नवंबर दिन शनिवार को शाम 4.45 बजे इलाहाबाद हाईकोर्ट जस्टिस एस हसनैन करेंगे।

Share it
Share it
Share it
Top