घाटी में ढाई दशक बाद टूटी आफत

घाटी में ढाई दशक बाद टूटी आफतकश्मीर घाटी के विभिन्न हिस्सों में लगातार चौथे दिन बर्फबारी ।

श्रीनगर । कश्मीर घाटी के विभिन्न हिस्सों में लगातार चौथे दिन रिकॉर्ड बर्फबारी के कारण देश के अन्य हिस्सों से इसका संपर्क टूटा रहा। हालात इतने खराब हो गए हैं कि लोगों को रोजमर्रा की जरूरी चीजें दूध, राशन, सब्जी, दवाई आदि के लिए जद्दोजहद करनी पड़ रही है। इस त्रासदी में सेना के 14 जवानों समेत तकरीबन दो दर्जन लोगों की जान चली गई है।

हालांकि, मौसम विभाग ने शुक्रवार को मौसम में सुधार होने की बात कही थी। मौसम विभाग के अधिकारी ने बताया कि पहलगाम, गुलमर्ग और श्रीनगर में हुई भारी बर्फबारी ने साल 1992 के रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। 2006 में भी कुछ ऐसी परिस्थिति का सामना करना पड़ा था।

यातायात पर पड़ा असर

अधिकारी ने कहा, "हम शुक्रवार से मौसम में सुधार होने की उम्मीद कर रहे हैं।" घाटी में बर्फबारी के चलते यातायात और उड़ानें प्रभावित हुई हैं।”

परिवहन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि जब तक शुक्रवार अपराह्न श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग का निरीक्षण नहीं हो जाता तब तक वाहनों के आवागमन को अनुमति नहीं दी जा सकती। हवाई अड्डे के एक अधिकारी ने कहा, "श्रीनगर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर सुबह के समय दृश्यता केवल 200 मीटर थी। दिन में दृश्यता में सुधार होने पर ही उड़ान संचालन की बहाली पर निर्णय लिया जाएगा।"

पाला 0 से 4 डिग्री नीचे लुढ़का

मौसम विभाग के अधिकारी के मुताबिक, श्रीनगर का न्यूनतम तापमान शून्य से 0.8 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। गुरुवार से यहां 10.5 मिलीमीटर बारिश और दो सेंटीमीटर बर्फबारी दर्ज की गई।

पहलगाम में न्यूनतम तापमान शून्य से 2.2 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज हुआ। यहां 36.6 मिलीमीटर बारिश व 23 सेंटीमीटर बर्फबारी दर्ज की गई। गुलमर्ग में न्यूनतम तापमान शून्य से चार डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। यहां 40.2 मिलीमीटर बारिश व 41 सेंटीमीटर बर्फबारी दर्ज की गई।

मौसम विभाग ने बताया कि जम्मू शहर में शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 8.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यहां 28.4 मिलीमीटर बारिश हुई। कटरा में न्यूनतम तापमान 7.5 डिग्री, बानिहाल में शून्य डिग्री सेल्सियस, बाटोट में 0.1 डिग्री सेल्सियस और भदरवाह में शून्य से 0.1 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।


Share it
Share it
Share it
Top