‘गुरमेहर के नज़रिए का मज़ाक उड़ाना बेहद घृणित’, समर्थन में बोले गौतम गंभीर

‘गुरमेहर के नज़रिए का मज़ाक उड़ाना बेहद घृणित’, समर्थन में बोले गौतम गंभीरगंभीर ने ट्वीट कर कहा कि युद्ध की भयावहता को लेकर शहीद की बेटी गुरमेहर के नजरिये का मजाक उड़ाना या गोलबंदी करना बेहद घृणित था।

नई दिल्ली (भाषा)। अभिव्यक्ति की आजादी के मुद्दे पर अपने विचारों को लेकर चर्चा में आई दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा गुरमेहर कौर को लेकर जहां खेल जगत में आलोचना हो रही है वहीं आज उनके समर्थन में क्रिकेटर गौतम गंभीर ने अपनी राय रखी, वहीं अब छात्रा का मजाक उड़ाने पर हो रही आलोचना के बाद वीरेंद्र सहवाग रक्षात्मक हो गए हैं।

इस मामले पर कड़ा रुख लेते हुए गंभीर ने ट्वीट कर कहा कि युद्ध की भयावहता को लेकर शहीद की बेटी गुरमेहर के नजरिये का मजाक उड़ाना या गोलबंदी करना बेहद घृणित था। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पूर्ण और सभी के लिए है। इस मुद्दे पर गंभीर की राय पूर्व क्रिकेटर सहवाग के नजरिये से बिल्कुल अलग है। यह संयोग है कि दोनों ने लंबे समय तक टीम इंडिया के लिए साथ पारी की शुरुआत की है।

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ समर्थित छात्र संगठन एबीवीपी के खिलाफ सोशल मीडिया पर अपने रुख और भारत- पाकिस्तान के बीच शांति की वकालत को लेकर अपने वीडियो अभियान की वजह से गुरमेहर को सोशल मीडिया पर काफी तीखी टिप्पणियों का सामना करना पड़ा था। सहवाग ने कई ट्वीट कर खुद का बचाव करते हुए दावा किया कि कौर के पोस्ट के जवाब में सोशल मीडिया पर किया गया उनका पोस्ट एक मजाक का प्रयास था न कि किसी की राय को लेकर उसको धमकाना।

उन्होंने कहा कि सहमति और असहमति भी कोई कारक नहीं थी। सहवाग ने ट्वीट किया कि उसे (गुरमेहर) को अपनी राय व्यक्त करने का पूरा हक है और यदि कोई हिंसा या दुष्कर्म की धमकी देता है तो यह जिंदगी का निम्नतम स्तर है। हर व्यक्ति को बिना किसी डर या धमकी के अपने विचार रखने का हक है। वह चाहे गुरमेहर कौर हो या फोगट बहनें।’

गंभीर ने अपने बयान में कहा कि उनके दिल में भारतीय सेना के लिए बेहद सम्मान है, हालांकि हालिया घटनाओं ने उन्हें निराश किया है। उन्होंने कहा, ‘हम एक स्वतंत्र देश में रहते हैं जहां हर किसी को अपनी राय का हक है। अपने पिता को खोने वाली कोई बेटी अगर शांति की मंशा से युद्ध की भयावहता को लेकर पोस्ट करती है तो उसे ऐसा करने का पूरा हक है।’ गंभीर ने कहा, ‘ये हर किसी के लिए यह दिखाने का मौका नहीं है कि वो कितना देशभक्त है या उसका मजाक उड़ाने के लिए वह एक साथ आ जाएं। हर नागरिक की तरह उसे भी अपनी राय रखने का हक है। हर कोई उससे सहमत हो भी सकता है और नहीं भी हो सकता है लेकिन इसके लिए उसका मजाक उड़ाना घृणित है।’

गुरमेहर की शिकायत पर जांच जारी, चाहिए थोड़ा और वक्त

दिल्ली पुलिस ने बुधवार को कहा कि दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा गुरमेहर कौर को मिली दुष्कर्म की धमकी के संबंध में उसकी जांच जारी है। मामले की तह तक पहुंचने के लिए सोशल साइटों की जांच की जा रही है। पुलिस को इस मामले में थोड़ा और वक्त चाहिए। विशेष पुलिस आयुक्त दीपेंद्र पाठक ने कहा, ‘हम दोषियों की पहचान करने का प्रयास कर रहे हैं। अपराध शाखा तथा साइबर शाखा एक साथ मामले की जांच कर रही है। व्यापक जांच-पड़ताल जारी है। मामले के तह तक पहुंचने के लिए हमें कुछ वक्त की जरूरत है।’
उन्होंने कहा कि पुलिस की जांच गुरमेहर की शिकायत व दिल्ली महिला आयोग द्वारा उनकी शिकायत के साथ भेजी गई स्क्रीनशॉट पर आधारित है।
उन्होंने कहा कि पुलिस ने इस मामले में फेसबुक व गूगल सर्च इंजन से मदद मांगी है, ताकि उस आईपी एड्रेस का पता लगाया जा सके, जिससे धमकियां दी गईं।

Share it
Share it
Share it
Top