‘जनाधारम’ से सरकार ने साल में बचाए 36,000 करोड़ रुपए

‘जनाधारम’ से सरकार ने साल में बचाए 36,000 करोड़ रुपएरवि शंकर प्रसाद, सूचना और प्रौद्योगिकी मंत्री

नई दिल्ली (भाषा)। जनधन-आधार-मोबाइल (जनाधारम) पहल के जरिए सरकार गरीबों को दी जाने वाली सब्सिडी और अन्य लाभों के मद में 36,000 करोड़ रुपए मूल्य के नुकसान को बचा सकी है। यह बचत बीते एक साल में हुई।

केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने सोमवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा, “हमने उनके जनधन खातों को उनके आधार से, उनके मोबाइल से जोड़ा और इन सबको मोबाइल से। डिजिटल प्रौद्योगिकी के कार्यान्वयन से हमें बीते एक साल में गरीबों को सब्सिडी और अन्य लाभों के मद में होने वाले नुकसान मद में 36,000 करोड़ रुपए की बचत हुई है।” सूचना और प्रौद्योगिकी (आईटी) मंत्री प्रसाद ने कहा कि सरकार ‘डिजिटल विभाजन को पाटना’ चाहती है। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही भारत में 50 करोड़ इंटरनेट लैंडलाइन और वायरलैस कनेक्शन होंगे।

मंत्री ने कहा, “भारतीयों की अप्रकट संभावनाओं को जगाने के लिए हम छह करोड़ भारतीयों को डिजिटल साक्षर बनाने के लिए बड़ा डिजिटल साक्षरता कार्यक्रम करेंगे।” उन्होंने कहा कि 125 करोड की जनसंख्या वाले देश में इस समय 103 करोड़ से अधिक मोबाइल उपयोक्ता व 107 करेाड़ आधार कार्डधारक हैं। विधि मंत्री का प्रभार संभाल रहे प्रसाद ने कहा कि सरकार साइबर सुरक्षा को और मजबूत बनाए जाने की जरुरत से ‘अवगत’ है।

Share it
Share it
Share it
Top