हर राज्य में बनाये जाने चाहिए हज हाउस, मंत्रालय मदद को तैयार: नकवी 

हर राज्य में बनाये जाने चाहिए हज हाउस, मंत्रालय मदद को तैयार: नकवी केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी।

नई दिल्ली (भाषा)। हज यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए अगली हज यात्रा की तैयारियां तत्परता से शुरु करने की जरुरत रेखांकित करते हुए केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि हर राज्य में हज हाउस बनाये जाने चाहिए, जिसके लिए हमारा मंत्रालय हर संभव मदद करने को तैयार है।

नकवी ने कहा, ‘‘इस दिशा में हमने राज्य सरकारों को पत्र लिखा है।'' उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक मंत्रालय और हज कमिटी ऑफ इंडिया ने अगले हज के लिए तैयारियां इस बार काफी हद तक समय से पहले शुरु कर दी है ताकि हाजियों को उनकी यात्रा में किसी भी तरह की कोई परेशानी ना हो। नकवी ने कल मुम्बई के लोकमान्य तिलक मार्ग पर महाराष्ट्र स्टेट हज कमिटी के पुनर्निर्मित दफ्तर का उद्घाटन किया।

नकवी ने कहा कि हाजियों को बेहतर से बेहतर सुविधा मुहैया कराना सरकार और अन्य एजेंसियों की जिम्मेदारी है और हमारा मंत्रालय इस विषय पर युद्ध स्तर पर काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि हर राज्य में हज हाउस बनाये जाने चाहिए, जिसके लिए हमारा मंत्रालय हर संभव मदद करने को तैयार है. राज्य सरकारों को इस दिशा में हमने पत्र भी लिखा है। नकवी ने कहा कि केंद्र सरकार का प्रयास है कि पिछली बार की तरह इस बार की हज यात्रा भी सरल-सुगम रहे।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पहली बार अल्पसंख्यक मंत्रालय ने हज से पहले की तैयारियों का जायजा लेने के लिए अधिकारियों का एक दल पिछले अगस्त में मक्का भेजा था। उच्च अधिकारियों का दल हज व्यवस्था की निगरानी और समन्यव हेतु फिर सउदी अरब जायेगा। नकवी ने कहा कि हज को बेहतर से बेहतर बनाने और हाजियों को ज्यादा से ज्यादा सहूलियत मुहैया कराने के सन्दर्भ में उन्होंने दिसंबर में भारत में सउदी अरब के राजदूत डा. साउद मुहम्मद अलसाती से भेंट की थी। इस दौरान उन्होंने डॉ अलसाती से अगली हज यात्रा से सम्बंधित विभिन्न मुद्दों पर सार्थक और व्यापक चर्चा की।

नकवी ने कहा कि पिछली हज यात्रा में सउदी अरब सरकार ने हज को सुचारु रुप से संपन्न कराने में बड़ा ही महत्वपूर्ण सहयोग किया था। इसके अलावा नई दिल्ली में हज को लेकर समीक्षा बैठक दो माह पूर्व की जा चुकी है, जिसमे हज के विभिन्न बिंदुओं पर विस्तार से चर्चा हुई। पिछले हज के दौरान के अनुभवों की समीक्षा कर अगले हज को सुविधाजनक बनाने के लिए तैयारियों पर चर्चा की गई, जिसमे हाजियों के लिए बेहतर आवास और बेहतर यातायात शामिल हैं।

अल्पसंख्यक कार्य मंत्री ने कहा कि हमने अगले हज के लिए देशभर से आये विभिन्न सुझावों के आधार पर सउदी अरब सरकार और हज से जुड़ी भारत की एजेंसियों से बातचित शुरु कर दी है। उन्होंने कहा कि नागर और विमानन मंत्रालय के अधिकारियों से भी कहा गया है कि हज यात्रियों को आधुनिक सुविधा वाले जहाज उपलब्ध कराए जाने चाहिए। हज 2017 की घोषणा हो गई है और 2 जनवरी से इसके लिए आवेदन आरम्भ हो जायेंगे। आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 24 जनवरी है।

Share it
Top