बाबरी मस्जिद मामला मालिकाना हक से जुड़ा : असदुद्दीन ओवैसी 

बाबरी मस्जिद मामला मालिकाना हक से जुड़ा : असदुद्दीन ओवैसी ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एमआईएम) के नेता असदुद्दीन ओवैसी।

हैदराबाद (भाषा)। एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने आज कहा कि बाबरी मस्जिद मामला मालिकाना हक से जुड़ा हुआ है और वह देखना चाहते हैं कि मामले में क्या भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ ‘षड्यंत्र के आरोप' साबित होंगे।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उनका बयान ऐसे दिन आया है जब सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सभी संबंधित पक्षों को अयोध्या मंदिर का समाधान ढूंढ़ने का फिर से प्रयास करना चाहिए जो ‘‘संवेदनशील'' मामला है और ‘‘भावनाओं से जुड़ा हुआ है।''

ओवैसी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘यह जानने को इच्छुक हूं कि 1992 के बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में आडवाणी, जोशी और उमा भारती के खिलाफ षड्यंत्र के आरोप तय होंगे या नहीं।''

हैदराबाद से लोकसभा सदस्य ने उम्मीद जताई कि उच्चतम न्यायालय ‘‘मानहानि की याचिका पर भी निर्णय करेगा जो 1992 में बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद से लंबित है।''

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘कृपया याद रखिए कि बाबरी मस्जिद मामला मालिकाना हक से जुड़ा हुआ है जिसे इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने गलत तरीके से भागीदारी मामला बताया इसलिए उच्चतम न्यायालय में अपील की गई है।''

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने विवादित भूमि को तीन हिस्से में बांटने का फैसला दिया था -- एक तिहाई हिस्सा सुन्नी वक्फ बोर्ड के लिए, एक तिहाई निर्मोही अखाड़े के लिए और एक तिहाई ‘राम लला' के पक्षकारों के लिए।

Share it
Top