यूजीसी-नेट की परीक्षा में पहली बार योग शामिल

यूजीसी-नेट की परीक्षा में पहली बार योग शामिलफोटो प्रतीकात्मक है।

नई दिल्ली (भाषा)। देश भर के 90 शहरों में 1421 केंद्रों पर इस बार यूजीसी-नेट परीक्षा का आयोजन किया गया। इस परीक्षा में 7.94 लाख पंजीकृत छात्रों ने हिस्सा लिया। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने आज कहा कि रविवार को हुई परीक्षा में साढे़ चार हजार छात्रों ने योग विषय के लिए परीक्षा दी।

एक बयान में सीबीएसई ने कहा कि छात्र तीन पेपर में शामिल हुए। इनमें पेपर-1 सामान्य ज्ञान सभी प्रतिभागियों के लिए एक जैसा था जबकि पेपर-2 और 3 का चयन छात्रों ने 84 विषयों में से किया।

बयान में कहा गया कि पहली बार इस परीक्षा में योग को विषय के तौर पर शामिल किया गया था और 4500 छात्रों ने इस विषय के लिए परीक्षा दी।

सीबीएसई के बयान में कहा गया, ‘‘दृष्टिबाधित प्रतिभागियों के लिए ब्रेल लीपि में भी पर्चा दिया गया था। दिव्यांग प्रतिभागियों को पेपर-1 और पेपर-2 के लिए 25 मिनट का अतिरिक्त समय दिया गया तो वहीं पेपर-3 के लिए ऐसे छात्रों को 50 मिनट का अतिरिक्त समय दिया गया।''

बोर्ड ने कहा कि इस बार हाल में संपन्न हुए केंद्रीय और नवोदय विद्यालयों की परीक्षा में पहली बार सफलतापूर्वक डिजिटल मार्किंग की व्यवस्था ‘डिजी स्कोरिंग' का इस्तेमाल किया गया।

बयान में कहा गया कि, ‘‘यूजीसी-नेट परीक्षा के दौरान भी करीब 400 केंद्रों पर डिजी स्कोरिंग का इस्तेमाल किया गया। इसके तहत परीक्षा केंद्रों पर ही ओएमआर शीट्स को स्कैन किया गया और उन्हें सीबीएसई के केंद्रीय सर्वर में स्टोर कर दिया गया। इस साल अप्रैल में होने वाली जेईई परीक्षा के दौरान इस व्यवस्था को 1900 से ज्यादा केंद्रों पर लागू करने की योजना है।''


Share it
Share it
Share it
Top