अमेरिका के ऊर्जा बाजार में निवेश को तैयार है भारत: प्रधान 

अमेरिका के ऊर्जा बाजार में निवेश को तैयार है भारत: प्रधान केंद्रीय तेल एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान।

ह्यूस्टन (भाषा)। केंद्रीय तेल एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने आज कहा कि भारत बेहतर सौदा मिलने पर अमेरिकी के उर्जा क्षेत्र में निवेश और संपत्ति के अधिग्रहण का विचार रखता है।

प्रधान ने कहा कि आने वाले वर्षों में भारत दुनिया में ऊर्जा का सर्वाधिक खपत वाला देश बनेगा और कुल खपत में उसकी हिस्सेदारी एक तिहाई होगी, ऐसे में बेहतर सौदा मिलने पर अमेरिका में निवेश को तैयार है। उन्होंने कहा कि भारत का कच्चा तेल खरीदने का स्रोत बहुआयामी है और अगर भारत को अच्छी शर्तें और उपयुक्त मूल्य मिलता है, वह अमेरिका समेत कहीं से भी उर्जा खरीदने को तैयार है।

भारत ने दुनिया भर में (रुस, कनाडा, न्यूजीलैंड, आस्ट्रेलिया, वियतनाम, अफ्रीका, लातिन अमेरिका) उर्जा बाजारों में निवेश किया हुआ है। हालांकि भारतीय तेल एवं उर्जा कंपनियों की अमेरिका में मौजूदगी बहुत कम है। उन्होंने कहा लेकिन भारत अमेरिका में और निवेश को तैयार है।

अमेरिका में निवेश के बारे में पूछे जाने पर प्रधान ने कहा, ‘‘अगर अच्छी संपत्ति मिले तो क्यों नहीं?'' उन्होंने कहा, ‘‘दीर्घकालीन स्तर पर संपत्ति के अधिग्रहण के लिये मौजूदा मूल्य केवल एक मुद्दा नहीं है। हम परियोजना की स्थिति, परियोजना का लाजिस्टिक पर गौर कर रहे हैं। साथ ही बाजार स्थिति को भी देखते हैं।''

Share it
Share it
Share it
Top