उत्तर कोरिया के आईसीबीएम खतरे से चिंतित है अंतरराष्ट्रीय समुदाय: व्हाइट हाउस 

उत्तर कोरिया के आईसीबीएम खतरे से चिंतित है अंतरराष्ट्रीय समुदाय: व्हाइट हाउस व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जोश अर्नेस्ट

वॉशिंगटन (भाषा)। व्हाइट हाउस ने कहा है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय उत्तर कोरिया के अस्थिरता लाने वाले बडबोलेपन से चिंतित है, जिसमें उसने कहा है कि वह अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) का परीक्षण करेगा। अलग-थलग पडें उत्तर कोरिया ने अपने परमाणु हथियार कार्यक्रम के दायित्वों पर टिके रहने से इनकार कर विश्व समुदाय की चिंता बढ़ा दी है।

व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जोश अर्नेस्ट ने कल कहा, ‘‘ओबामा प्रशासन, अमेरिका और मेरे विचार से अंतरराष्ट्रीय समुदाय उत्तर कोरिया प्रशासन द्वारा कभीकभार की जाने वाले अस्थिरता लाने वाली गतिविधियों और अस्थिरता लाने वाले बडबोलेपन को गंभीरता से लेता है और इसके प्रति चिंतित है। इसीलिए अमेरिका ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से उत्तर कोरिया पर सर्वाधिक कड़ी पाबंदियां लागू करने का आह्वान किया है।''

सप्ताहांत पर कार्टर ने कहा था कि अमेरिकी सेना अमेरिका और उसके सहयोगियों का संरक्षण करने में पूरी तरह सक्षम है। उन्होंने चेतावनी दी, ‘‘जरुरत पड़ने पर हम उस क्षमता का इस्तेमाल करने के लिए तैयार हैं।'' उन्होंने कहा कि अमेरिका की प्राथमिकता कोरिया प्रायद्वीप को परमाणु रहित बनाना, तनाव कम करना और उत्तर कोरिया को राष्ट्रों के समुदाय में वापस लाना है।

अर्नेस्ट ने कहा, ‘‘लेकिन फिलहाल उत्तर कोरिया परमाणु हथियार कार्यक्रम की बात आने पर अंतरराष्ट्रीय दायित्वों का पालन करने से इनकार कर रहा है इसलिए वह अलग थलग पड़ा है। विदेश विभाग के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा कि अमेरिका उत्तर कोरिया से किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है।

Share it
Top