Live: कानपुर के पास पटरी से उतरी इंदौर-पटना एक्‍सप्रेस ट्रेन, 100 लोगों की मौत, सैकड़ों लोग घायल

Live: कानपुर के पास पटरी से उतरी इंदौर-पटना एक्‍सप्रेस ट्रेन, 100 लोगों की मौत, सैकड़ों लोग घायलहादसे में कम से कम 100 लोगों की मौत, सैकड़ों लोग घायल

कानपुर। मध्य प्रदेश के इंदौर से बिहार की राजधानी पटना जा रही इंदौर-पटना एक्‍सप्रेस ट्रेन (19321) रविवार तड़के तीन बजे कानपुर के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई। ट्रेन की 14 बोगी कानपुर के पास पुखरायां में पटरी से उतर गई। हादसे में कम से कम 100 लोगों की मौत हो गई है और सैकड़ों लोग घायल हो गये। रेलवे अधिकारियों का कहना है कि हताहतों की संख्या बढ़ने की आशंका है।

तस्वीरों में देखें कानपुर में हुए दर्दनाक ट्रेन हादसे का मंज़र

उत्‍तर रेलवे के प्रवक्‍ता विजय कुमार ने बताया कि डॉक्‍टर और रेलवे के वरिष्‍ठ अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। अभी ट्रेन के पटरी से उतरने की वजहों के बारे में पता नहीं चला है, लेकिन सूत्रों का कहना है कि इस दुर्घटना की प्रकृति और समय यह दिखाते हैं कि दुर्घटना पटरी में टूट-फूट के कारण हुई है। हालांकि असल वजह का पता जांच के बाद ही चल पाएगा। कुमार ने साथ ही कहा कि यात्रियों को उनकी आगे की यात्रा में मदद करने के लिए बसें तैनात कर दी गई हैं। उन्होंने कहा कि डिब्बा संख्या एस-2 बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है। चार एसी डिब्बे भी पटरी से उतर गए हैं।

पिछले पांच साल में हुए रेल हादसे, जिसमें सैकड़ों लोगों की जान चली गई

इंदौर पटना एक्सप्रेस हादसा: मुख्यमंत्री अखिलेश ने पांच-पांच लाख रुपए की मदद देने का किया ऐलान

कानपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक जकी अहमद ने कहा कि घायलों को इलाके में स्थित अस्पतालों में ले जाया गया है। सभी अस्पतालों को अलर्ट रहने के लिए कहा गया है। 30 से ज्यादा एंबुलेंसें काम में लगा दी गई हैं। उन्होंने बताया कि 250 से ज्यादा पुलिसकर्मी राहत और बचाव अभियानों में मदद कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पटना-इंदौर एक्सप्रेस के पटरी से उतरने के कारण हुई मौतों पर वह अपने दर्द को शब्दों में बयां नहीं कर सकते। प्रधानमंत्री ने साथ बताया कि उन्होंने रेलमंत्री सुरेश प्रभु से बात की है, जो कि खुद हालात पर करीबी नजर रखे हुए हैं।

वहीं रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने सुबह ट्वीट कर इस घटना पर दुख जताया और बताया कि राहत एवं बचाव का काम जारी है। सारी चिकित्सीय सहायता दी जा रही है। रेल मोबाइल मेडिकल यूनिट्स को घटनास्थल पर भेजा गया है। सभी घायलों को तत्काल उपचार के लिए अस्पताल ले जाया जा रहा है। प्रभु ने साथ ही बताया कि घटना की हालात पर करीबी नजर रखा जा रहा है। जांच के आदेश दे दिए गए हैं और हादसे के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

रेलवे ने इस हादसे से जुड़ी जानकारी के लिए हेल्‍पलाइन नंबर जारी किए हैं-

पटना - 0612- 2202290, 0612-2202291, 0612-2202292,

मुगलसराय- 05412-251258, 05412-254145,

हाजीपुर- 06224-272230,

झांसी - 05101072,

उरई- 051621072,

कानपुर - 05121072,

पुखरयां- 05113-270239

घायलों की सूची

माती में भर्ती हादसे में घायल यात्रियों की सूची

ट्रेन हादसे की जांच के सिलसिले में करायी गयी पटरी की वीडियोग्राफी

कानपुर देहात (भाषा)। रेलवे ने इंदौर-पटना एक्सप्रेस ट्रेन के पटरी से उतरने की घटना के कारणों का पता लगाने के लिए कानपुर से झांसी तक की पूरी रेल पटरी की वीडियोग्राफी करायी। इस हादसे में अब तक 100 लोगों की मौत हो चुकी है।

उत्तर-मध्य रेलवे के महाप्रबंधक अरुण सक्सेना ने संवाददाताओं को बताया कि रेलवे सुरक्षा आयुक्त इस हादसे के कारणों की जांच करेंगे। जब उनसे किसी के द्वारा रेल पटरियों के साथ छेडछाड किये जाने की संभावना के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि रेलवे सुरक्षा आयुक्त कोलकाता से कल यहां पहुंचेंगे और वही इस बात का उत्तर दे पायेंगे।

उन्होंने कहा कि जिसके पास भी किसी तरह के सबूत हैं या जो भी अपना बयान दर्ज कराना चाहते हैं, वे आयुक्त से संपर्क कर सकते हैं। अधिकारी ने कहा, ‘‘छानबीन के सिलसिले में हमने पूरी पटरी की वीडियोग्राफी करायी है।'' इस हादसे में अब तक करीब सौ लोगों की मौत और सैकड़ों अन्य के घायल होने की सूचना है।

हादसे में मरने वालों की सूची

Share it
Share it
Share it
Top