इंदौर-पटना रेल हादसे में बचाव अभियान खत्म, मौत का आंकड़ा बढ़कर 142 हुआ 

इंदौर-पटना रेल हादसे में बचाव अभियान खत्म, मौत का आंकड़ा बढ़कर 142 हुआ इंदौर-पटना एक्सप्रेस रविवार तड़के कानपुर के पुखरायां में हादसे का शिकार हो गई थी। 

पुखरायां (भाषा)। कानपुर देहात जिले के पुखरायां में रविवार सुबह हुए इंदौर-पटना एक्सप्रेस हादसे में मृतकों की संख्या बढकर 142 हो गई है। रविवार तडके करीब तीन बजे हुए इस हादसे में रेलगाड़ी के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए थे। अब तक 133 लोगों की मौत हो चुकी है और बडी संख्या में लोग घायल हैं। मृतकों में से 110 लोगों की पहचान की जा चुकी है और 97 शव परिजनों को सौंप दिए गए हैं।

कानपुर के आईजी जकी अहमद ने बताया कि रेलगाड़ी का जो एक डिब्बा बुरी तरह क्षतिग्रस्त है उसमें कुछ मानव अंश नजर आ रहे हैं। इस डिब्बे में कोई भी जीवित नहीं बचा है और इन अंशों को बाहर निकालने के लिए डिब्बे को काटना पड़ेगा। बचाव अभियान खत्म हो चुका है और डिब्बों को पटरी से हटा लिया गया है। हालांकि रेल यातायात पटरियों की मरम्मत के बाद ही प्रारंभ हो पाएगा। फिलहाल रेलवे के इंजीनियर मरम्मत के काम में जुटे हैं।

Share it
Top