बापू के पौत्र कनु गांधी पंचतत्व में विलीन

बापू के पौत्र कनु गांधी पंचतत्व में विलीनसूरत के अस्पताल में भर्ती थे कनु गांधी। फाइल फोटो 

सूरत (आईएएनएस)| महात्मा गांधी के पौत्र और नासा के पूर्व वैज्ञानिक कनु रामदास गांधी का यहां अंतिम संस्कार कर दिया गया। उनका सोमवार को निधन हो गया था। कनु गांधी के पुराने मित्र धीमंत बधिया ने मंगलवार को कहा, "उनकी 90 वर्षीय पत्नी शिवालक्ष्मी ने चिता को मुखाग्नि दी, क्योंकि इस दंपति को कोई संतान नहीं थी। वह भावनात्मक रूप से पूरी तरह नियंत्रित थीं, और उन्होंने तीन घंटा लंबे कर्मकांड में हिस्सा लिया।"

उन्होंने कहा कि सूरत कांग्रेस के कई सारे कार्यकर्ता, गुजरात सरकार के एक प्रतिनिधि और महात्मा गांधी की पौत्री नीलम पारिख के अलावा स्थानीय नागरिकों ने अंतिम संस्कार में हिस्सा लिया। कनु की बुजुर्ग बहन मुंबई निवासी ऊषा गोकानी, और बेंगलुरू निवासी उनकी एक अन्य बहन पूर्व राज्यसभा सदस्य सुमित्रा कुलकर्णी ने अंतिम संस्कार में हिस्सा नहीं लिया। कुलकर्णी हाल ही में कनु को देखने आई थीं।

बीते माह पड़ा था हार्ट अटैक

बधिया ने कहा कि कनु को 22 अक्टूबर को दिल का दौरा पड़ा था और मस्तिष्काघात भी हुआ था, जिसके बाद उनके शरीर को लकवा मार गया था और वह तभी से कोमा में थे और उससे बाहर नहीं निकल पाए। कनु की पत्नी शिवालक्ष्मी पति के निधन से बहुत व्यथित थीं, फिर भी वह उनका अंतिम संस्कार करने के लिए राजी हो गईं और दाहसंस्कार के बाद वह पूरी तरह मौन हो गईं। दाहसंस्कार के बाद बधिया उन्हें लेकर राधाकृष्ण मंदिर गए, जहां वे (दंपति) पिछले तीन सप्ताह से रह रहे थे।

सुन नहीं पाती हैं कनु की पत्नी

बधिया ने कहा कि शिवालक्ष्मी बहरी हैं और उन्हें वृद्धावस्था की अन्य बीमारियां भी हैं। इसलिए मंदिर प्रशासन ने उनकी 24 घंटे देखभाल के लिए एक सहायक नियुक्त कर रखा है। मंदिर प्रशासन उनकी दवा और अन्य जरूरतें भी पूरी कर रहा है। इस मंदिर का संचालन पंजाबी समुदाय के लोग करते हैं, और उन्होंने उन्हें मंदिर के संत निवास में प्रथम तल पर रहने की जगह दे रखी है, जहां वह अपने जीवन के बाकी समय बिताएंगी।

राहुल, सोनिया और केजरीवाल ने शोक जताया

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उपाध्यक्ष राहुल गांधी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कनु रामदास गांधी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, "महत्मा गांधी के पौत्र कानु गांधी का निधन हो गया। उनकी आत्मा को शांति मिले।"

गांधीजी के पौत्र कनुभाई गांधी के निधन के बारे में जानकर दुख हुआ। उनके परिवार के साथ मेरी हार्दिक संवेदनाएं हैं।
राहुल गांधी, टि्वटर पर जताया शोक

Share it
Top