उत्तर प्रदेश में नोट बदलने के लिए बैंकों, डाकघरों में भारी भीड़, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   10 Nov 2016 5:47 PM GMT

उत्तर प्रदेश में नोट बदलने के लिए बैंकों, डाकघरों में भारी भीड़, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम इलाहाबाद में 500 रुपए और 1000 रुपए के नोट को बदलने के लिए बैंक में लाइन लगाए ग्राहक।

लखनऊ (आईएएनएस)| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मंगलवार मध्यरात्रि से 500 व 1,000 रुपए के नोट बंद किए जाने के बाद गुरुवार को उत्तर प्रदेश के विभिन्न बैंकों व डाकघरों के बाहर नोट बदलने के लिए लोगों की लंबी कतार लगी रही। बैंकों व डाकघरों के बाहर हालांकि सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए, ताकि किसी तरह की अव्यवस्था न होने पाए।

सुबह से जुटने लगी भीड़

500 और 1,000 रुपए के नए नोट बैंक में जमा कराने के साथ ही जरूरत के लिए पैसे निकालने के उद्देश्य से लोग सुबह आठ बजे से ही बैंकों में एकत्र होने लगे। इसके कारण कई जगहों पर काफी भीड़-भाड़ और अफरातफरी भी देखी गई।

गाजियाबाद, मेरठ, आगरा, बरेली, लखनऊ , वाराणसी, इलाहाबाद के साथ ही गोरखपुर, फैजाबाद तथा अन्य शहरों के बैंकों में लंबी-लंबी कतार लगी है।

सहारनपुर में भी सुबह नौ बजे से ही बैंकों के सामने लंबी कतार लगी थी। आगरा के रामबाग और ट्रांस यमुना कॉलोनी फेस टू में हाईवे पर बैंकों में सुबह 8.30 बजे से ही लोग पहुंचने लगे थे। अमेठी में गौरीगंज में भारतीय स्टेट बैंक की शाखा में 500 व 1,000 रुपए के नोट जमा करने के लिए लोगों की सुबह से ही भीड़ जमा होने लगी।

सुबह 9 बजे खुले बैंक के दरवाजे

भीड़ को देखते हुए बैंकों को गुरुवार सुबह नौ बजे से ही खोल दिया गया। हाथरस में भारतीय स्टेट बैंक की मुख्य शाखा पर बैंक खुलने से पहले ही लंबी लाइन लग गई। लोगों को संभालने के लिए मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया।

कन्नौज के शहरी शाखाओं और मुरादाबाद के सभी बैंकों में भी सुबह से ही भीड़ लगी रही। लोग बैंकों से छोटे नोट लेने में ज्यादा रुचि दिखा रहे हैं। कुछ शाखाओं को छोड़ डाकघर के बाहर लोगों की कम ही भीड़ देखने को मिली।

सुबह से ही एसपी के साथ सभी थानेदार गश्त पर हैं। कुछ शाखाओं पर सीसीटीवी कैमरे भी अलग से लगाए गए हैं।




More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top