कई जानी मानी हस्तियां जो गुजरते बरस में हमसे हमेशा के लिए दूर हो गईं

कई जानी मानी हस्तियां जो गुजरते बरस में हमसे हमेशा के लिए दूर हो गईंगुजरते बरस में कई जानीमानी हस्तियां हमसे हमेशा के लिए दूर हो गईं और पीछे रह गईं उनकी यादें...

नई दिल्ली (भाषा)। गुजरते बरस में कई जानीमानी हस्तियां हमसे हमेशा के लिए दूर हो गईं और पीछे रह गईं उनकी यादें...

नब्बे के दशक में राष्ट्रीय स्तर पर गठबंधन की राजनीति के समय भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी का नेतृत्व करने वाले वरिष्ठ नेता एबी बर्धन का दो जनवरी को लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। उनका पूरा नाम अर्धेंदू भूषण बर्धन था।

वरिष्ठ नेता अर्धेंदू भूषण बर्धन।

जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद का संक्षिप्त बीमारी के बाद 7 जनवरी को निधन हो गया। सईद को अच्छी खासी मुस्लिम आबादी वाले राज्य में भाजपा के साथ लगभग असंभव समझे जाने वाली गठबंधन सरकार बनाने का शिल्पकार माना जाता है। एक गूढ़ वकील से लेकर देश के अब तक के एकमात्र मुस्लिम गृहमंत्री बनने तक का सफर तय करने वाले सईद ने एक मंझे हुए राजनीतिक खिलाड़ी की तरह राष्ट्रीय राजनीति और जम्मू-कश्मीर की राजनीति में अपने लिए एक अलग मुकाम बनाया था।

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद।

हिन्दी के प्रख्यात कहानीकार एवं कई साहित्यिक पत्रिकाओं के संपादक रह चुके रवीन्द्र कालिया का नौ जनवरी को 78 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। कालिया को साठोत्तरी हिन्दी कहानी में एक सशक्त कहानीकार के रूप में जाना जाता है। ‘कभी किसी को मुकम्मल जहां नहीं मिलता’ और ‘होश वालों को खबर क्या’ जैसी गजलों से लोगों के दिलों में जगह बनाने वाले मशहूर शायर और गीतकार निदा फाजली का 78 वर्ष की उम्र में आठ फरवरी को दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया।

हिन्दी के प्रख्यात कहानीकार रवीन्द्र कालिया।

तीन फरवरी को कांग्रेस के वयोवृद्ध नेता एवं पूर्व लोकसभा अध्यक्ष बलराम जाखड का निधन हो गया। वह 92 वर्ष के थे। जाखड 1980 से 1989 तक लोकसभा के अध्यक्ष रहे। इस दौरान उन्होंने संसद संग्रहालय की स्थापना में योगदान दिया।

Share it
Top