मेरठ का नाम 1391.50 मीटर लम्बी पेटिंग बनाने के लिए गिनीज बुक आफ रिकार्डस में दर्ज  

मेरठ का नाम 1391.50 मीटर लम्बी पेटिंग बनाने के लिए गिनीज बुक आफ रिकार्डस में दर्ज   गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड्स की टीम से मिले प्रमाण पत्र के संग मेरठ के अधिकारी व अन्य सहयोगी।

मेरठ (भाषा)। उत्तर प्रदेश के मेरठ की जनता ने 1391.50 मीटर लम्बी पेटिंग तैयार कर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में नाम दर्ज कराया है। इस संबंध में प्रमाण-पत्र गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड्स की टीम के प्रतिनिधि ने मण्डलायुक्त आलोक सिन्हा को प्रदान किया।

इससे पहले जिला प्रशासन मिलिटरी, मेरठ की जनता के सहयोग से मेरा शहर-मेरी पहल के तत्वावधान में 1400 मीटर लम्बी पेटिंग में गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड के लिए आयोजन का आरम्भ जीओसी राजीव कुमार, मण्डलायुक्त आलोक सिन्हा एव जिलाधिकारी बी.चन्द्रकला द्वारा अन्य अधिकारियों एवं गणमान्य नागरिकों की उपस्थिति में किया गया। जिसमें पेटिंग का आयोजन गिनीज बुक आफॅ रिकार्ड की टीम की निगरानी में शान्तिपूर्ण ढंग से सम्पन्न हुआ।

बाल दिवस के अवसर पर विश्व रिकार्ड के लिए आयोजित पेन्टिग कार्यक्रम में 1391.50 मीटर लम्बी व 1.4 मीटर चौड़ी पेटिंग बनाई गई। कार्यक्रम में मेरठ के छात्र-छात्राओं, मिलिटरी व जिला प्रशासन के 3500 से अधिक पंजीकृत प्रतिभागियों ने कैनवास पर रंग भरकर दर्ज कराया।

कार्यक्रम में कुल 14 हाउस अजन्ता, भीमबेटका, चाणक्य, दौर्णाचार्य, एलोरा, फागुन, गगनेन्द्र, हुसैन, इन्द्रप्रस्थ, जोगीमारा, कलमकारी, लावण्य, मधुबनी व नीलगिरी बनाए गए ओर प्रत्येक हाऊस जो 100 मीटर का था में एक हैड पेन्टर व उसके अधीन 40 एक्सपर्ट पेन्टर थे। पेटिंग आईआईएमटी चौराहे से माल रोड चौराहा होते हुए टैंक चौराहे तक बनाई गई।

इस पेटिंग कार्यक्रम में सभी जाति, धर्म, वर्ग व वर्ण के लोगों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेकर मेरठ को विश्व स्तर पर नई पहचान दिलाई।
आलोक सिन्हा मण्डलायुक्त मेरठ

जीओसी राजीव चाबा ने कहा कि 1400 मीटर लम्बी पेटिंग में मेरठ के चित्रकारों के लिए अपनी प्रतिभा दिखाने का अच्छा अवसर है।

आज का दिन मेरठवासियों के लिए बहुत गर्व का दिन है। मेरठवासियों ने गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में अपने नाम कर मेरठ को विश्व स्तर पर पहचान दिलाई है, जो हमेशा इतिहास में दर्ज रहेगा।
बी.चन्द्रकला जिलाधिकारी मेरठ

Share it
Top