महाराष्ट्र निकाय चुनाव : मुंबई में शिवसेना ने 84 सीटें, भाजपा ने 80 सीटों पर किया कब्जा, अन्य जगह भाजपा आगे 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   23 Feb 2017 7:14 PM GMT

महाराष्ट्र निकाय चुनाव : मुंबई में शिवसेना ने 84 सीटें, भाजपा ने 80 सीटों पर किया कब्जा, अन्य जगह भाजपा आगे मुम्बई में शिवसेना भवन।

मुंबई (आईएएनएस)| बृहनमुंबई नगर निगम (बीएमसी) की 227 सीटों के लिए हुए चुनाव में शिवसेना सबसे ज्यादा सीटें जीतकर पहले स्थान पर है, लेकिन भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कहा है कि वह निर्दलीय पार्षदों की मदद से बीएमसी की सत्ता पर काबिज होगी। गुरुवार को हुई मतगणना के शुरुआती दौर में लग रहा था कि शिवसेना अकेले बहुमत का आंकड़ा छू लेगी, जिसका शिवसैनिकों ने जश्न भी मनाया। लेकिन मतगणना पूरी होने के बाद शिवसेना मात्र 84 सीटों तक सिमट गई, जबकि भाजपा ने 81 सीटों पर जीत दर्ज की। सामान्य बहुमत के लिए किसी भी पार्टी या गठबंधन को 114 पार्षदों की जरूरत है।

चुनाव से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

शिवसेना के कार्यकर्ता।

महाराष्ट्र में हुए निकाय चुनाव में भाजपा ने बेहतर प्रदर्शन किया है, वहीं शिवसेना ने ठाणे में जीत दर्ज की है।

शिवसेना के उम्मीदवार जीत के बाद।

मुंबई भाजपा अध्यक्ष आशीष शेलार ने कहा कि पार्टी में मुंबई में 81 सीटें जीती हैं और उसके पास चार निर्दलीय पार्षदों का समर्थन है और इसलिए वह महापौर की कुर्सी के लिए दावा करने की स्थिति में है। उन्होंने कहा, "यह भाजपा की ऐतिहासिक जीत है, हमारे पास शिवसेना से केवल तीन सीटें कम हैं, इसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के विकास के एजेंडे को जाता है।"

शिवसेना के उम्मीदवार जीत के बाद।

उल्लेखनीय है कि शिवसेना ने निकाय चुनाव से पहले भाजपा से गठबंधन तोड़ लिया था और पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बहुमत न मिलने पर कम से कम 100 सीटों पर जीत दर्ज करने की उम्मीद जताई थी। बीएमसी का सालाना बजट साल 2016-17 के लिए 37,000 करोड़ रुपए है।

बीएमसी भवन।

मुंबई में बीएमसी चुनावों में भाजपा की कडी टक्कर के बावजूद शिवसेना सबसे बड़े दल के तौर पर उभर कर सामने आई। बृहनमुंबई महानगर पालिका के 225 सीटों के नतीजे में शिवसेना ने 84 सीटों पर कब्जा जमाया तो भाजपा के खाते में 80 सीटें आईं। बीएमसी चुनावों में कांग्रेस को नंबर तीन की स्थिति पर संतोष करना पड़ा, पार्टी के खाते में 31 सीटें आईं। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को नौ तो राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना को सिर्फ सात सीटों से संतोष करना पड़ा। एआईएमआईएम को तीन, समाजवादी पार्टी को छह, अखिल भारतीय सेना को एक और अन्य को चार सीटें मिली हैं। बीएमसी के 227 सदस्यों वाले सदन की दो सीटों के लिए हालांकि नतीजे आना अभी बाकी है।

मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष संजय निरूपम।

मुंबई में कांग्रेस को करारा झटका लगा है। हार की जिम्मेदारी लेते हुए मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष संजय निरूपम ने इस्तीफा दे दिया है।

राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) को सात सीटें, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) को नौ सीटें तथा मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एमआईएम) को तीन सीटें मिली हैं।

महाराष्ट्र के अन्य शहरों में भाजपा को जोरदार बढ़त मिली है। भाजपा पुणे नगर निगम में जीत की ओर बढ़ रही है, जिससे राकांपा दूसरे नंबर पर चली गई है। पुणे में शिवसेना, मनसे तथा कांग्रेस का प्रदर्शन बेहद खराब रहा।

पुणे के निकट पिंपरी-चिंचवाड़ नगर निगम में भाजपा तथा राकांपा के बीच जबरदस्त मुकाबला है, जहां भाजपा 27, जबकि राकांपा 21 सीटों पर आगे चल रही है।

शिवसेना कुल 131 सीटों वाले ठाणे नगर निगम पर अपना कब्जा बरकरार रखने की तरफ बढ़ रही है। कुल 151 सीटों वाला नागपुर नगर निगम भाजपा के खाते में जाता दिख रहा है, जहां भाजपा 70 सीटों पर, कांग्रेस 20 तथा राकांपा तथा शिवसेना एक-एक सीटों पर आगे चल रही है।

निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने कहा कि नासिक में भाजपा 112 सीटें जीतने की ओर अग्रसर है। भाजपा अमरावती में भी बेहतर प्रदर्शन कर रही है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top