सत्तारुढ़ भाजपा मुंबई को महाराष्ट्र से अलग करना चाहती है : राज ठाकरे

सत्तारुढ़ भाजपा मुंबई को महाराष्ट्र से अलग करना चाहती है : राज ठाकरेमहाराष्ट्र नवनिर्माण सेना राज ठाकरे।

मुंबई (भाषा)। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) प्रमुख राज ठाकरे ने घोषणा की कि उनकी पार्टी राज्य में मुंबई सहित अन्य नगर निगमों के चुनाव लड़ेगी। इस तरह से मनसे को लेकर इन अटकलों पर विराम लग गया कि यह पार्टी मुंबई नगर निकाय (बीएमसी) चुनाव नहीं लड़ेगी । इससे पूर्व शिवसेना ने गठबंधन की उनकी पेशकश ठुकरा दी थी।

यहां पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए राज ठाकरे ने आरोप लगाया कि सत्तारुढ़ भाजपा मुंबई को महाराष्ट्र से अलग करना चाहती है। उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि यद्यपि शिवसेना और भाजपा बीएमसी चुनाव अलग-अलग लड़ रही हैं, चुनाव बाद वे एक हो जाएंगी। उन्होंने ‘‘मराठी लोगों के लिए मुंबई को बचाने'' के वास्ते वोट मांगा।

इस बीच, भाजपा ने शिवसेना से नगर निकाय के बही-खातों में 70,000 करोड़ रुपए के ‘घालमेल' पर स्थिति स्पष्ट करने को आज कहा।

मुंबई भाजपा अध्यक्ष आशीष शेलार ने कहा, ‘‘ वर्ष 2007-12 के दौरान 69,899.52 करोड़ रुपए के कोषों (बीएमसी द्वारा खर्च किए गए) का कोई लेखा नहीं है।'' शेलार ने कहा, ‘‘ किन ठेकेदारों को ये बिल दिए गए? कौन से काम कराए गए? किस बांद्रा (पूर्व) बैंक में पैसा जमा किया गया? शिवसेना नेतृत्व और बीएमसी स्थायी समिति के चेयरमैन को यह स्पष्ट करना चाहिए।''

बीएमसी स्थायी समिति द्वारा वित्त मंत्री अरुण जेटली की आज सराहना किए जाने पर शेलार ने कहा, ‘‘ जो लोग अभी तक इस बजट के खिलाफ बोल रहे थे अब इसके पक्ष में बोल रहे हैं. यह बदलाव महत्व का है।''


Share it
Top