केवीआईसी कैलेंडर से गांधी की तस्वीर गायब पर चरखा चलाते दिखे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सोशल मीडिया में जमकर हो रहा विरोध

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   13 Jan 2017 3:41 PM GMT

केवीआईसी कैलेंडर से गांधी की तस्वीर गायब पर चरखा चलाते दिखे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सोशल मीडिया में जमकर हो रहा विरोधखादी ग्रामोद्योग आयोग से प्रकाशित कैलेंडर और डायरी में गांधी की जगह मोदी को छापा गया।

मुंबई (भाषा)। खादी ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) के प्रकाशित कैलेंडर में महात्मा गांधी की तस्वीर की जगह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर प्रकाशित की गई। जिस पर खादी ग्रामोद्योग आयोग के ढेर सारे कर्मचारियों ने विरोध किया और पूछा, राष्ट्रपिता की तस्वीर क्यों नहीं प्रकाशित की गई। इस मुद्दे का सोशल मीडिया में जमकर विरोध हो रहा है।

मुम्बई में खादी ग्रामोद्योग आयोग से जुडे दर्जनों श्रमिक उपनगरीय विले पारले पर जमा हुए और उन्होंने कहा कि वे इस मुद्दे को इसलिए उठा रहे हैं क्योंकि गांधी खादी आंदोलन के पीछे महत्वपूर्ण मार्गदर्शक शक्ति रहे हैं।

प्रदर्शनकारियों में से एक ने कहा, ‘‘हम डायरी और कैलेंडर में मोदीजी की तस्वीर शामिल करने के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन गांधीजी की तस्वीर नहीं पाकर हम दुखी हैं, हम सिर्फ यह जानना चाहते हैं कि क्यों गांधीजी को यहां स्थान नहीं दिया गया है. क्या गांधीजी खादी उद्योग के लिए अब प्रासंगिक नहीं रहे।''

प्रदर्शनकारियों ने गांधीजी की तस्वीरों के साथ फिर से कैलेंडर प्रकाशित करने की मांग की। आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने हालांकि, इस मुद्दे को तरजीह नहीं दी।

महात्मा की अनदेखी करने की कोई सोच भी नहीं सकता। वह समूचे भारत में समस्त खादी उद्योग के लिए मार्गदर्शक शक्ति थे और रहेंगे। खादी उद्योग उनके दर्शन पर आधारित है और उसके साथ उसका स्वाभाविक जुड़ाव रहा है।
केवीआईसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न बताने की शर्त पर बताया

मोदी की तस्वीर को शामिल किए जाने को उचित ठहराते हुए उन्होंने कहा, ‘‘पिछले अक्तूबर में मोदीजी ने लुधियाना में महिला सूत कातने वालों को 500 चरखा वितरित किया। उस ऐतिहासिक क्षण को याद करते हुए हमने कैलेंडरों पर उनकी तस्वीर प्रकाशित करने का फैसला किया था।''

उन्होंने कहा कि मोदी खुद खादी के जबर्दस्त समर्थक हैं और खुद इन सामग्रियों को प्रोत्साहित करने के अलावा खादी पहनते हैं। अधिकारी ने कहा, ‘‘मोदीजी ने रेडियो पर अपने मन की बात कार्यक्रम की पहली कड़ी में ही खादी के प्रति अपने प्रेम पर जोर दिया था। उन्होंने न सिर्फ देश में बल्कि विदेश में भी खादी को लोकप्रिय बनाने में भूमिका अदा की है।''

कलराज मिश्र ने दी सफाई कहा, गांधी का स्थान कोई नहीं ले सकता

तस्वीर विवाद पर केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का स्थान कोई नहीं ले सकता।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और आम आदमी पार्टी के संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविद केजरीवाल ने भी इस मुद्दे पर मोदी पर निशाना साधा था।

गांधी बनने के लिए वर्षों तपस्या करनी पड़ती है। कोई चरखा चलाने का नाटक कर गांधी नहीं बन जाता, इससे उसका उपहास ही उड़ता है।
रविद केजरीवाल मुख्यमंत्री दिल्ली

केंद्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री कलराज मिश्र ने कहा, "मोदी ने गांधी का स्थान नहीं लिया है। कैलेंडर में हर महीने के पृष्ठ पर अलग तस्वीर लगी है जिसमें से एक पृष्ठ पर मोदी की भी तस्वीर है।" हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने अभी यह कैलेंडर खुद नहीं देखा है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, "गांधीजी का अपना अलग स्थान है, जिसे कोई नहीं ले सकता।"

यह पूछने पर कि क्या गांधीजी के स्थान पर मोदी की तस्वीर लगाने का प्रयास किया गया है, मिश्रा ने कहा, "मैंने अभी तक कैलेंडर देखा नहीं है। मैं एक बार कैलेंडर देख लूं तो जो जरूरी होगा, हम करेंगे लेकिन कोई भी गांधीजी का स्थान नहीं ले सकता।"

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top