संसद हमले के शहीदों को देश ने श्रद्धांजलि दी, परिजनों ने पुष्प अर्पित किए

संसद हमले के शहीदों को देश  ने श्रद्धांजलि दी, परिजनों ने पुष्प अर्पित किए2001 में संसद पर हुए आतंकवादी हमले में हुए शहीदों को श्रद्धांजलि देते परिजन।

नई दिल्ली (आईएएनएस)| उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन और अन्य वरिष्ठ नेताओं ने मंगलवार को 2001 में संसद पर हुए आतंकवादी हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

मोदी ने ट्वीट कर कहा, "2001 में संसद पर हुए आतंकवादी हमले के दौरान जान गंवाने वाले शहीदों को सलाम। उनकी वीरता कभी भुलाई नहीं जाएगी।" प्रधानमंत्री ने शहीदों के कुछ परिजनों से मुलाकात भी की।

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी, राज्यसभा के उप सभापति पी.जे. कुरियन, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली और कांग्रेस नेताओं गुलाम नबी आजाद और आनंद शर्मा ने संसद पर हुए हमले की 15वीं बरसी पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

इस मौके पर शहीदों के सम्मान में संसद में दो मिनट का मौन रखा गया।

एक दिसंबर, 2001 को पांच आतंकवादी संसद भवन परिसर में घुस आए थे और स्वाचालित हथियारों से हमला कर दिया था। हमले में दिल्ली पुलिस के छह कर्मी, संसद सुरक्षा सेवा के दो कर्मी और एक माली की जान चली गई थी। सुरक्षाकर्मियों ने जवाबी हमले में पांचों आतंकवादियों को मार गिराया था।

ममता ने कहा,जय हिंद

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को 2001 में संसद पर हुए हमले के दौरान शहीद होने वाले सुरक्षाकर्मियों को श्रद्धांजलि दी। ममता ने ट्वीट कर कहा, "13 दिसंबर, 2001 को संसद की रक्षा करते हुए वीरता से अपनी जान न्योछावर करने वाले शहीदों को सलाम करती हूं। ईश्वर उनके परिजनों को शक्ति प्रदान करे। जय हिंद।"

Share it
Top