एएमयू के तिब्बी कॉलेज के प्रोफेसर अब्दुल लतीफ को ‘हकीम अजमल खान’ पुरस्कार 

एएमयू के तिब्बी कॉलेज के प्रोफेसर अब्दुल लतीफ को ‘हकीम अजमल खान’ पुरस्कार अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का दृश्य। प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली (भाषा)। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के अजमल खान तिब्बी कॉलेज के प्रोफेसर अब्दुल लतीफ को इस वर्ष का ‘हकीम अजमल खान' पुरस्कार दिया जाएगा।

यूनानी डॉक्टरों की संस्था ऑल इंडिया तिब्बी यूनानी कांग्रेस के महासचिव डॉ सैयद अहमद खान ने एक विज्ञप्ति में बताया कि 12 फरवरी को हकीम अजमल खान की जयंती के मौके पर अनौपचारिक तौर पर मनाए जाने वाला विश्व यूनानी दिवस का कार्यक्रम इस वर्ष जयपुर में मनाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के अजमल खान तिब्बी कॉलेज के प्रोफसर अब्दुल लतीफ को हकीम अजमल खान पुरस्कार के नवाजा जाएगा। वहीं भारत सरकार के यूनानी के पूर्व उप सलाहकार डॉ शम्स-उल अफाक को यूनानी चिकित्सा पद्धति के क्षेत्र में अहम योगदान के लिए लाइफ टाइम अचीवमेंट पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि जयपुर के आयुर्वेद विश्वविद्यालय के यूनानी चिकित्सा संकाय के डीन प्रोफेसर गुलाम कुतुब चिश्ती को ‘हकीम जियाउद्दीन जिया' पुरस्कार से अलंकृत किया जाएगा। डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी को अल्लमा कबीरुद्दीन पुरस्कार दिया जाएगा।

इसके अलावा नई दिल्ली के डॉ राम मनोहर अस्पताल के कंसल्टेंट हकीम एसपी भटनागर को ‘हकीम अब्दुल हमीद' पुरस्कार से नवाजा जाएगा।

उन्होंने बताया कि हकीम अजमल खान स्वतंत्रता सैनानी एवं शिक्षाविद् थे। उन्होंने देश में यूनानी और आयुर्वेद जैसी भारतीय चिकित्सा पद्धतियों को आगे बढ़ाने में अहम योगदान दिया है। डॉ खान ने बताया कि हकीम अजमल खान ने दिल्ली में यूनानी तिब्बी कॉलेज की स्थापना की थी, जिसका उद्घाटन महात्मा गांधी ने किया था।

उन्होंने कहा कि उनकी जयंती के दिन विभिन्न गैर सरकारी संगठन और यूनानी चिकित्सा संस्थान संगोष्ठिया और अन्य कार्यक्रम आयोजित करते हैं।

Share it
Top