एक हजार रुपए का नोट जारी करने की सरकार की कोई योजना नहीं: शक्तिकांत दास 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   22 Feb 2017 1:47 PM GMT

एक हजार रुपए का नोट जारी करने की सरकार की कोई योजना नहीं: शक्तिकांत दास आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास।

नई दिल्ली (भाषा)। सरकार ने आज स्पष्ट किया कि एक हजार रुपए का नोट लाने की उसकी कोई योजना नहीं है, इस समय उसका ध्यान निम्न मूल्यवर्ग के नोटों का उत्पादन बढ़ाने पर है।

आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास ने आज यह जानकारी देते हुए यह भी कहा कि एटीएम में नकदी की कमी की शिकायतों पर ध्यान दिया जा रहा है, उन्होंने लोगों से भी आग्रह किया है कि वह जरुरत से ज्यादा ध्यान नहीं निकालें।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

शक्तिकांत दास ने ट्वीट किया, ‘‘1,000 रुपए का नोट लाने की योजना नहीं है। 500 रुपए और निम्न मूल्यवर्ग के दूसरे नोटों के उत्पादन, आपूर्ति पर ध्यान दिया जा रहा है।''

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘‘एटीएम में नकदी समाप्त होने की शिकायतों पर ध्यान दिया जा रहा है, लोगों से आग्रह है कि उतनी ही नकदी निकालें जितने की वास्तव में जरुरत है, कुछ लोगों द्वारा अधिक निकासी दूसरों को इससे वंचित रख सकती है।''

उल्लेखनीय है कि मीडिया के एक वर्ग में सरकार द्वारा 1,000 रुपए का नोट जल्द जारी किए जाने का समाचार दिया गया है, इसमें कहा गया है कि सरकार जल्द ही 1,000 रुपए का नोट जारी करेगी, इसके लिये तैयारियां शुरू हो गईं हैं।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पिछले सप्ताह कहा था कि बंद किए गए 500, 1,000 रुपए के नोटों के स्थान पर नए नोटों को जारी करने का काम ‘‘करीब करीब सामान्य हो चला है।''

रिजर्व बैंक दैनिक आधार पर आपूर्ति स्थिति पर नजर रखे हुए है। सरकार ने कालाधन, नकली नोट और आंतकवादियों को किए जाने वाले वित्तपोषण पर अंकुश लगाने के ध्येय से 8 नवंबर 2016 को उस समय चलन में रहे 500 और 1,000 रुपए के नोटों को एक झटके में अमान्य कर चलन से बाहर कर दिया था।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top