तीन हजार करोड़ रुपए की प्रतिबंधित नशीली दवा जब्त, बॉलीवुड का फिल्म निर्माता गिरफ्तार

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   2 Nov 2016 2:44 PM GMT

तीन हजार करोड़ रुपए की प्रतिबंधित नशीली दवा जब्त, बॉलीवुड का फिल्म  निर्माता गिरफ्तारतीन हजार करोड़ रुपए से अधिक मूल्य की प्रतिबंधित नशीली दवा बरामद

नई दिल्ली (भाषा)। राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) ने उदयपुर स्थित एक फैक्टरी से 3,000 करोड़ रुपए से अधिक मूल्य की प्रतिबंधित नशीली दवा बरामद की है और इस सिलसिले में बॉलीवुड के निर्माता सुभाष दुधानी को गिरफ्तार किया है।

डीआरआई अधिकारियों ने 28 अक्तूबर को उदयपुर स्थित मरुधर ड्रिंक्स कंपनी के परिसर में छापा मारा और पाया कि एक कमरे में प्रतिबंधित मैन्ड्रेक्स गोलियां कार्टनों में रखी थीं। सीबीईसी के अध्यक्ष नजीब शाह ने बताया ‘‘गोलियों की कुल संख्या दो करोड़ से अधिक है और वजन करीब 23.5 मीट्रिक टन है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में जब्त गोलियों की कीमत लगभग 3000 करोड़ रुपए से अधिक है।

इसे केंद्रीय आबकारी एवं सीमाशुल्क बोर्ड (सीबीईसी) की जांच शाखा डीआरआई द्वारा अब तक की गई नशीली दवाओं की सबसे बड़ी जब्ती बताया गया है।

शाह ने बताया ‘‘हमने मास्टरमाइंड को गिरफ्तार कर लिया है और इस ड्रग सिंडिकेट में लिप्त अन्य लोगों को पकड़ने के लिए प्रयास जारी हैं।'' उन्होंने बताया कि बॉलीवुड के फिल्म निर्माता सुभाष दुधानी का कारोबार एवं संपत्ति मुंबई में भी है।

उन्होंने बताया कि डीआरआई मुंबई को मास्टरमाइंड के बारे में सूचना मिली और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की मदद से उसका उदयपुर में पता चला जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

बरामद प्रतिबंधित नशीली दवा को मैन्ड्रेक्स, एम पिल्स, बटन या स्मार्टीज के नाम से जाना जाता है और अक्सर भांग के साथ इसका सेवन किया जाता है। अफ्रीका और एशिया में इसका उपयोग ‘‘रिक्रीशनल ड्रग'' के तौर पर किया जाता है। शाह ने बताया ‘‘यह खेप राजस्थान में तैयार की गई और इसे मोजाम्बिक या दक्षिण अफ्रीका भेजा जाना था।'' पिछले पांच साल में डीआरआई ने 540 किग्रा से अधिक हेरोइन और 7,409 किग्रा एफिड्रीन तथा अन्य पदाक पदार्थ जब्त किए हैं। इसके अलावा विभिन्न राज्यों में डीआरआई ने मेफेड्रोन, केटामाइन, अल्पराजोलैम और एफेड्रीन जैसी नशीली दवाओं की 10 अन्य फैक्टरियां बंद करवाई।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top