बंधक बनाए गए कुलपति ने कहा छात्रों ने पत्नियों से भी मिलने नहीं दिया 

बंधक बनाए गए कुलपति ने कहा छात्रों ने पत्नियों से भी मिलने नहीं दिया जवाहर लाल नेहरू (जेएनयू) के कुलपति एम. जगदीश कुमार व अन्य।

नई दिल्ली (आईएएनएस)| जवाहर लाल नेहरू (जेएनयू) के कुलपति एम. जगदीश कुमार ने संवाददाताओं से कहा कि जिन छात्रों ने उन्हें और अन्य अधिकारियों को कार्यालय में बंधक बनाया, उन्होंने उनकी पत्नियों को भी उनसे नहीं मिलने दिया। जेएनयू के कुलपति ने बताया कि कार्यालय में उनके पास खाने को भी नहीं था।

उन्होंने ये बातें उन संवाददाताओं से कही, जिन्हें कुलपति से मिलने के लिए अंदर जाने दिया गया था। कुमार ने कहा, "हम कल (बुधवार) दोपहर 2.30 बजे से बंधक थे। हम फर्स पर सोने को मजबूर हुए और हमारे पास खाने के लिए भोजन नहीं था।"

जेएनयू में विवाद की शुरुआत छात्र नजीब अहमद के लापता होने के बाद हुई। वह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (अभाविप) के सदस्यों के साथ हुए कथित झगड़े के बाद 14 अक्टूबर की रात से लापता है।

कुमार ने नजीब की जल्द वापसी की उम्मीद जताते हुए कहा, "छात्र अपनी जिद पर अड़े हुए हैं। उन्हें लगता है कि हम (विश्वविद्यालय अधिकारियों) अहमद को खोजने के अपना सर्वोच्च योगदान नहीं दे रहे हैं।"

वहीं, ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा) के सदस्य रामा नागा ने अधिकारियों के घेराव के आरोपों से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि 'छात्र प्रशासनिक ब्लॉक के बाहर इकट्ठे हुए हैं, ताकि वे हमसे बात कर सकें।'

रामा नागा ने संवादाताओं से कहा, "हमने किसी को भी कार्यालय के अंदर रहने के लिए मजबूर नहीं किया। हम चाहते हैं कि वे नजीब के लापता होने पर हमारे सवालों के जवाब दें।"




Share it
Share it
Share it
Top