टीबी उन्मूलन के लिए दोगुना प्रयास करें : राष्ट्रपति  

टीबी उन्मूलन के लिए दोगुना प्रयास करें : राष्ट्रपति  प्रणब मुखर्जी, राष्ट्रपति

नई दिल्ली (आईएएनएस)। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने विश्व क्षयरोग (टीबी) दिवस (24 मार्च) की पूर्व संध्या पर टीबी उन्मूलन के लक्ष्य को जल्दी प्राप्त करने के लिए सभी हितधारकों से अपने प्रयासों को दोगुना करने के लिए कहा है।

राष्ट्रपति सचिवालय से जारी विज्ञप्ति के अनुसार, ग्लोबल कोएलिशन अगेंस्ट ट्यूबरकुलोसिस को भेजे अपने संदेश में राष्ट्रपति ने कहा है कि उन्हें यह जानकर प्रसन्नता हो रही है कि 24 मार्च को विश्व क्षयरोग दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। इसी तारीख को वर्ष 1882 में डॉ रॉबर्ट कोच ने टीबी बेसिलस की खोज की थी। यह दिवस इसी खोज की याद में मनाया जाता है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

टीबी भारत की प्रमुख स्वास्थ्य चुनौतियों में से एक है। देश आज पहले की तुलना में टीबी से लड़ने के लिए बेहतर रूप से तैयार है। देश प्रभावी रूप से इस रोग को रोकने के लिए इसके निदान, उपचार और देखभाल की आधुनिक तकनीकों से लैस है। वर्ष 2012-2017 की अवधि के दौरान, संशोधित राष्ट्रीय क्षय रोग नियंत्रण कार्यक्रम ने 42 मिलियन से अधिक व्यक्तियों की जांच की और सात मिलियन से अधिक रोगियों का उपचार किया गया।

विश्व क्षयरोग दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति ने टीबी उन्मूलन के लक्ष्य को जल्दी से जल्दी प्राप्त करने के लिए सभी हितधारकों से अपने प्रयासों को दोगुना करने के लिए कहा है।

Share it
Share it
Share it
Top