चार हजार रुपए बदलने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया गए राहुल गांधी  

चार हजार रुपए बदलने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया गए राहुल गांधी  नई दिल्ली में स्टेट बैंक से चार हजार रुपए निकालने के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी।

नई दिल्ली। नोट बंदी के फैसले पर कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को जनता का कष्ट नहीं दिख रहा है। कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी आज अचानक संसद मार्ग स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया पहुंचे।

राहुल को कतार में देख मीडियाकर्मी जब उनके पास पहुंचे और यहां खड़े होने की वजह पूछी तो राहुल गांधी ने कहा मैं चार हजार रुपए बदलने आया हूं।

उन्होंने उनके कतार में लगते ही दूसरे लोगों को वहां से हटाने वाले बैंक अधिकारियों की आलोचना की और झल्लाते हुए मीडियाकर्मियों से कहा कि कौन जानना चाहता है कि वह कतार में क्यों खड़े हैं। राहुल ने कहा, "मैं कतार में खड़े रहना चाहता हूं, लोग बहुत मुश्किल में हैं, घंटों से खड़े हैं। मैं यहां क्यों खड़ा हूं, यह न प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समझेंगे और न बड़े मीडिया हाउसों के आपके करोड़पति मालिक समझेंगे।"

कांग्रेस उपाध्यक्ष नोट बदलवाने के लिए तीन दिन से घंटों कतारों में खड़े रहने वाले लोगों के प्रति सहानुभूति जताई। राहुल गांधी ने कहा कि जनता को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नोट बंदी के फैसले पर जो कष्ट हो रहा है मैं उनके साथ खड़ा हूं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को जनता का कष्ट नहीं दिख रहा है।

आठ नवंबर की शाम प्रधानमंत्री की घोषणा के साथ ही 1000 और 500 रुपए के नोट बंद कर दिए जाने के बाद से देश का हर नागरिक तनाव में है। पुराने नोट लेने को कोई तैयार नहीं है और नए नोट पाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। कहा गया था कि 11 नवंबर से एटीएम से नए नोट निकलने लगेंगे, लेकिन ज्यादातर एटीएम खाली ही रहे। लोगों को मायूस लौटना पड़ा।

चार हजार रुपए निकालने के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी।

हाथ में पैसे न होने के कारण कोई जरूरी सामान भी नहीं खरीद पा रहा है। कई शादियां रुक गई हैं और निजी अस्पतालों में पुराने नोट नहीं लिए जाने के कारण इलाज के अभाव में कई मरीजों की मौत हो चुकी है।

आधा घंटा लाइन में खड़े रहने के बाद राहुल बैंक के अंदर पहुंचे। राहुल को सुरक्षा कर्मचारियों ने अपने घेरे में ले लिया था।

Share it
Top